DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांव पहुंचा कोलकाता हादसे का शिकार इमरान का शव

दिलदार नगर (गाजीपुर) हिन्दुस्तान संवाद। कोलकाता के अमारी अस्पताल में मौत से हार चुके खजुरी गांव निवासी इमरान का शव रविवार को उसके पैतृक गांव पहुंचा। शव देखते ही परिवार के लोग फूट-फूट कर रो पड़े। पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया। परिजनों का हाल देख सभी की आंखें छलछला आयीं। परिवार की महिलाएं शव से लिपटकर बिलखने लगीं।इमरान अपने तीन भाइयों में सबसे बड़ा था। इंटर की परीक्षा पास करने के बाद परिवार के लोग उससे काफी उम्मीद पाले हुए थे।

पहले तो उसने बिहार पुलिस में भर्ती होने के लिए फार्म भरा, पर उसमें उसे सफलता नहीं मिली। नौकरी न मिलने के बाद वह परेशान रहने लगा। इस बीच उसकी तबीयत गिरने लगी। इमरान के पिता इश्तियाक बंगाल पुलिस में एसआई हैं। उनके तीनों बेटे उनके पास ही रहते थे। उन्होंने इमरान को कोलकाता के महंगे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया, पर उसकी सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ। इस दौरान कोलकाता के आमरी (एएमआरआई) के डाक्टरों ने उसके शरीर में कैंसर का होना बताया। इसका इलाज अस्पताल में चल रहा था। शुक्रवार को इस अस्पताल में भीषण आग लगते समय उसे ऑक्सीजन लगी थी। परिजनों के अनुसार इमरान की नाक में आक्सीजन लगी थी। आग लगने पर वह आक्सीजन हटाकर भाग रहा था कि बेहोश होकर गिर पड़ा। अस्पताल कर्मियों ने उसे दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गयी। रविवार को शव गांव लाया गया। शव हावड़ा-अमृतसर एक्सप्रेस से दिलदारनगर स्टेशन पहुंचा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांव पहुंचा कोलकाता हादसे का शिकार इमरान का शव