DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्यवसायी से रंगदारी लेने आया सुल्तानपुर का बदमाश

 वाराणसी कार्यालय संवाददाता। दाल मंडी के व्यवसायी से दस लाख की रंगदारी लेने आया सुल्तानपुर काबदमाश यासिर अराफात उर्फ हैकत शनिवार की रात सिगरा पुलिस के हत्थे चढ़ गया। मौके से उसके तीन साथी भाग निकले। हैकत पर सिगरा थाने में ही एक मामले में पांच हजार का इनाम घोषित था। उसके पास से तमंचा और कारतूस बरामद हुआ है। एसपी सिटी मानसिंह चौहान ने रविवार को अपने कार्यालय में हैकत को मीडिया के सामने पेश किया। बताया कि लल्लापुरा के इम्तियाज अहमद का दालमंडी में वस्त्र का व्यवसाय है। इम्तियाज से मोबाइल पर रंगदारी न देने पर भाइयों समेत हत्या की धमकियां दी जा रही थी।

पेरशान व्यवसायी ने सिगरा एसओ आनंद सिंह से शिकायत की। सर्विलांस से बदमाशों का लोकेशन दालमंडी और लल्लापुरा मिल रहा था। शनिवार को व्यवसायी पुलिस के पास था तभी हैकत ने कॉल की। व्यवसायी ने डिस्काउंट की बात की तो पांच लाख लेने को तैयार हो गया। हैकत ने रुपये लेकर इम्तियाज को पहले आईपी मॉल बुलाया। व्यवसायी बैग लेकर पहुंचा। सादेवर्दी में पुलिस आसपास थी।

हैकत ने पुलिस वालों को पहचान लिया। इसके बाद व्यवसायी को फोन कर गोदौलिया पेट्रोल पम्प के पास बुलाया। व्यवसायी वहां पहुंचा तो नईसड़क बुला लिया। बैग लेकर इम्तियाज पहुंचा तो फिर हैकत ने कॉल की। कहा पक्की सड़क (लल्लापुरा) आओ। इम्तियाज पहुंचा तो बदमाश ने मोबाइल पर कहा कि बैग सामने के चबूतरे पर रखकर हट जाओ। व्यवसायी बैग रखकर हटा तो तीन साथियों के साथ हैकत बैग लेने पहुंचा। अंधेरे में पहले से ही मौजूद एसओ, एसआई शिवाजी राव, कांस्टेबल राजेश चौबे और अरमान आलम ने उसे दबोचा लिया। उसके तीन साथी भाग निकले। हैकत सुल्तानपुर कोतवाली के ईदगाह रोड स्थित राहुल चौराहा का निवासी है।

उसके खिलाफ वर्ष 99 में धमौर (सुल्तानपुर) थाने में हत्या, लूट, मारपीट, धमकी के मामले दर्ज हैं। वह जेल जा चुका है। वहां की पुलिस की डर से लहंगपुरा (औरंगाबाद) स्थित ससुराल में रह रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्यवसायी से रंगदारी लेने आया सुल्तानपुर का बदमाश