DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त होंगे शिक्षक

रांची। संवाददाता। अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक नई दिल्ली की कार्यसमिति की बैठक रविवार को होटल कृष्णा इन में हुई। इसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल सिंह ने की। इसमें हिमाचल प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, यूपी, ओडिम्शा, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश, बंगाल, बिहार, छत्तीसगढ़, एमपी, कर्नाटक, मिजोरम, असम आदि राज्यों के प्रतिनिधि शामिल हुए। इन्हें शॉल, बैग और मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

बैठक में झारखंड के शिक्षा मंत्री बैद्यनाथ राम ने कहा कि अगले सत्र से पूर्व शिक्षकों की बहाली कर ली जाएगी। शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त करने कवायद तेज हो गई है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत स्कूलों में बने-बनाए भोजन की शुरुआत जमशेदपुर से की जा रही है। इंजीनियरिंग सेल का गठन हो गया है। धीरे-धीरे शिक्षकों को निर्माण कार्य से भी अलग कर लिया जाएगा।

ब्रज बिहारी पाण्डेय ने राष्ट्रीय अध्यक्ष से झारखंड की समस्याओं को देश स्तर पर ले जाने की मांग की। एस ईश्वरन ने बैठक का एजेंडा प्रस्तुत किया। इसमें सरकार की पीपीपी नीति का विरोध किया गया। 2012 में संसद का घेराव करने, अक्टूबर में राष्ट्रीय सम्मेलन करने तथा 21 दिसंबर को प्रस्तावित भूख हड़ताल को वापस ले लिया गया।

बैठक में एमपी शाही, ब्रजनंदन शर्मा, रामचंद्र दवास, केके त्रिपाठी, अशोक चौहान, डॉ संजय त्रिवेदी, आनंद कुमार लाल, मंजू तिवारी समेत अन्य शिक्षक उपस्थित थे।कार्यसमिति की बैठक’ अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने 21 दिसंबर की प्रस्तावित भूख हड़ताल वापस ली’ दूसरे राज्यों के प्रतिनिधियों को शॉल और मोमेंटो से सम्मानित किया गया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त होंगे शिक्षक