DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मॉर्निंग वॉक कर रहे शिक्षक पर टस्कर का हमला

दून मार्ग पर सुबह की सैर के लिए निकले लोगों पर टस्कर ने हमला कर दिया। उनमें से एक शिक्षक को उसने सूंड से पकड़ लिया और गंभीर रूप से घायल कर दिया। सामने से आ रहे ट्रक के हार्न की आवाज सुनकर वह शिक्षक को छोड़कर जंगल में भाग गया। इससे शिक्षक की जान बच गई।

ढालवाला स्थित एमआईटी फार्मेसी विभाग में तैनात शिक्षक सुरेंद्र शर्मा (40) पुत्र शांति कुमार शर्मा निवासी प्रगति विहार मूल निवासी मथुरा ने रविवार सुबह छह बजे वन विभाग बैरियर के पास बाइक खड़ी की। इसके बाद वे दून मार्ग पर सुबह की सैर के लिए चल दिए। रास्ते में उन्हें तीन साथी और मिल गए। सौफुटी के पास झाड़ियों से निकलकर एक टस्कर उनके सामने आ धमका। वे कुछ समझ पाते, इससे पहले ही टस्कर ने उनपर हमला कर दिया। यह देख अन्य साथी तो भाग निकले, लेकिन टस्कर ने सुरेंद्र को अपनी सूंड में दबोच लिया। सूंड में छटपटा रहे सुरेंद्र के चेहरे पर टस्कर के दांतों से घाव हो गए। इसी दौरान सामने से आ रहे एक ट्रक ने हार्न बजाया। टस्कर ने हार्न की आवाज सुनते ही सुरेंद्र को छोड़ दिया और जंगल की ओर भाग गया। बुरी तरह घायल सुरेंद्र किसी तरह वन चौकी पहुंचे और फोन से इसकी जानकारी एमआईटी के निदेशक एचजी जुयाल को दी। जुयाल मौके पर पहुंचे और सुरेंद्र को राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया। वहां डाक्टरों ने उनके चेहरे पर 36 टांके लगाए हैं। इधर, वन क्षेत्रधिकारी गंगा सागर नौटियाल का कहना है कि शिक्षक पर हाथी ने हमला नहीं किया, बल्कि हाथी को देखकर वे सड़क पर गिर पड़े, इसी से उनके चेहरे पर चोट आई है।

वन विभाग के खिलाफ करुंगा आंदोलन
टस्कर के हमले में घायल सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि वन विभाग हमलावर हाथी को ढूंढ़ने के लिए ठोस प्रयास नहीं कर रहा है। हाथी दून मार्ग पर लोगों पर हमला कर रहा है, जबकि वन विभाग उसे जंगल में ढूंढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि वे जल्द ही वन विभाग के खिलाफ आंदोलन करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मॉर्निंग वॉक कर रहे शिक्षक पर टस्कर का हमला