DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वेब सर्फिंग नए आयाम

क्या आपको अपनी वेब सर्विस को फिक्स करने के लिए बार-बार कंप्यूटर के डिफॉल्ट विकल्प का सहारा लेना पड़ता है? परेशान न हों, आज इस दिशा में ऐसे अनेक विकल्प मौजूद हैं, जो यूजर्स के वेब सर्फिग के अनोखे अनुभव उपलब्ध कराते हैं। तो जानिए कुछ ऐसे ही विकल्पों के बारे में, जो आपके इंटरनेट की रफ्तार को बढ़ा सकते हैं। बता रहे हैं निमिश दुबे

तकनीक की दुनिया में आज बेशक बहुत बड़े पैमाने पर परिवर्तन आ गया हो, लेकिन वेब का प्राइमरी सोर्स अभी तक पुराने अंदाज में ही चल रहा है। हमारे पास चाहे अधिक एप्लीकेशंस और विजेट्स हों, लेकिन अधिकांश लोग आज भी उसी समय वेब ब्राउजर्स लांच करते हैं, जब उन्हें ऑनलाइन सर्फिग करनी होती है। अधिकांश कंप्यूटरों में इंस्टॉल विंडोज में इंटरनेट एक्सप्लोरर और मैक ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टॉल वाले कंप्यूटरों में सफारी ब्राउजर्स लगे आते हैं और यूजर्स को इनकी आदत शुरू में ही पड़ जाती है।

दूसरी ओर, इंटरनेट एक्सप्लोरर, ऑपेरा और फायरफॉक्स ने हाल में अपने ब्राउजर्स अपडेट किए हैं, और गत सप्ताह फायरफॉक्स बीटा भी आ पहुंचा है, तो अब यूजर्स के हाथ में वेब के नए और तेजतर्रार रफ्तार से चलने से जुड़े अनेक विकल्प हैं।

इसलिए इन नए और श्रेष्ठ ब्राउजर्स के इस्तेमाल की शुरुआत आप शीघ्र कर सकते हैं। यह मुफ्त और आसान हैं और इन्हें ऑनलाइन प्राप्त किया जा सकता है। तो जानिए इनके बारे में।

इंटरनेट एक्सप्लोरर 9
लोगों के कंप्यूटरों में इंटरनेट एक्सप्लोरर (आईई) होता है, परंतु अधिकांशत: पुराना। इसका हालिया वजर्न माइक्रोसॉफ्ट ने मई में लांच किया था और उसका अपडेट आया नवंबर में। आईई का यह नया वजर्न अब तक माइक्रोसॉफ्ट का सर्वश्रेष्ठ ब्राउजर रहा है, जिसमें न्यूनतम इंटरफेस के साथ अनेक नए फीचर्स हैं। नया ब्राउजर तेजी से पेज लोड करता है और नया इंटरफेस भी इस्तेमाल में आसान है।

पक्ष: पिछले वजर्न्स के मुकाबले काफी तेज। सरल इंटरफेस, नवीन फीचर्स, जैसे पाइनिंग और वेब स्लाइस, जिनसे आप अपनी विंडोज होमस्क्रीन पर कोई भी वेबसाइट पेस्ट कर सकते हैं और ब्राउजर बिना लांच किए लाइव अपडेट पा सकते हैं।

विपक्ष: विंडोज 7 और विंडोज विस्टा पर ही चलता है। इंटरनेट एक्सप्लोरर हैकर्स के भी निशाने पर रहता है।

डाउनलोड करें:
www.microsoft.com/india/windows/ie/IE9.aspx

मोजिला फायरफॉक्स 8
आईई से इतर यह दुनिया में सबसे जाना-माना वेब ब्राउजर है। इसका इंटरफेस आईई की तरह सरल है, लेकिन कई अतिरिक्त फीचर्स के साथ। इससे सोशल नेटवर्क साइटों के अपडेट से लेकर समाचार और स्क्रीनशॉट्स लेने तक की सुविधा है।

पक्ष: फायरफॉक्स बेहद स्टेबल है और पेज के कंटेंट के अनुसार यह लोडिंग भी सबसे तेज कर सकता है। इसके एड-ऑन मुफ्त, खोजने और इंस्टॉल करने में आसान हैं। ब्राउजर में एक बटन है, जो इस दिशा में आपकी मदद करता है।

विपक्ष: फायरफॉक्स को अपडेट करना काफी जटिल प्रक्रिया है, क्योंकि प्रत्येक अपडेट में एड-ऑन्स अस्थाई तौर पर कंपैटिबल नहीं होते। आपको नए वजर्न के आगमन पर उन सबको रीसेट करना पड़ेगा।

डाउनलोड करें:
www.mozilla.org/en-US/firefox/features

गूगल क्रोम 15
गूगल ने कुछ वर्ष पूर्व क्रोम के साथ ब्राउजिंग के क्षेत्र में एक नया आयाम स्थापित किया था। उसने रुकावटी इंटरफेस हटाकर सर्फिग को रफ्तार दी थी। फिलहाल अपने 15वें वजर्न में जारी, यह अपने शुरुआती दिनों की तरह शायद कॉम्पिटीशन में न ठहर सके, परंतु फिर भी यह अभी सबसे तेज है। ट्वीकर्स के लिए इसकी सेवा फायरफॉक्स सरीखी होगी, हालांकि यह उतना सक्षम नहीं है। क्रोम इंस्टेंट पेज जैसे नए टच भी हैं, जो आपके द्वारा यूआरएल टाइप करते हुए ही वेब पेज प्रीलोड कर देते हैं। साथ ही यह फ्लैश और पीडीएफ बिल्ट इन को बिना उनके लिए अतिरिक्त डाउनलोड के सपोर्ट भी करता है।

पक्ष: सरल इंटरफेस, तेज ब्राउजिंग और छोटे आकार के कारण यह इंस्टॉल और अपडेट करने में आसान है।

विपक्ष: कभी-कभार होने वाले क्रेश के सामने कमजोर, कुछ एडवांस फीचर्स फेसबुक सरीखी पॉपुलर वेबसाइटों पर काम नहीं करता।

डाउनलोड करें:
www.google.com/chrome

ऑपेरा 11.5
बेशक इसका आईई और क्रोम जैसा शोर न हो, लेकिन ऑपेरा सबसे अनोखे ब्राउजरों में से है। यह टैब्ड ब्राउजिंग युक्त पहला ब्राउजर है और स्पीड डायल के साथ आप लगातार अपनी देखी जाने वाली साइटों को ग्रुप कर सकते हैं। एक नवीन रचना टबरे ब्राउजिंग फीचर की है, जो आपको धीमे कनेक्शनों पर भी वेब सर्फिग की सुविधा देती है। इसमें एक इनबिल्ट ईमेल क्लाइंट, नोट्स एप्लिकेशन और एक बिटटॉरेंट क्लाइंट भी है। आप ऐसे एक्सटेंशन भी प्राप्त कर सकते हैं, जो ब्राउजर को अतिरिक्त फंक्शन देते हैं, हालांकि इससे क्रोम या फायरफॉक्स को कोई तगड़ी प्रतिस्पर्धा नहीं मिलती।

पक्ष: धीमे कनेक्शनों के लिए बेहतर और कई उपयोगी फीचर्स से सजा है। तो आपको एड ऑन्स इंस्टॉल करने की जरूरत नहीं।

विपक्ष: सभी वेबसाइटें इसे सपोर्ट नहीं करतीं।

डाउनलोड करें:
www.opera.com/browser

सफारी 5.11
एक समय मैक्स से जुड़े हुए व्यक्ति ही इसका इस्तेमाल करते थे, लेकिन सफारी कुछ वर्ष पूर्व ही मुख्यधारा में शामिल हुआ है और उसकी अच्छी फॉलोइंग बन चुकी है। एप्पल के अन्य उपकरणों की तरह प्रेजेंटेशन में भी आकर्षक है। इसकी रीडिंग लिस्ट फीचर आपको बाद में पढ़ने के लिए आकर्षक तरीके से पेज प्रस्तुत करती है। कवर फ्लो में भी यही होता है, जो आपके बुकमार्क्‍स और ब्राउजिंग हिस्ट्री को दर्शनीय शैली में सामने रखता है। यहां कुछ एक्सटेंशंस भी हैं, जो बेशक क्रोम और फायरफॉक्स से बेहतर और तेज रफ्तार न हों, लेकिन देखने में कहीं उम्दा हैं। यह ब्राउजर काम भी बिना रुकावट करता है।

पक्ष: एप्पल सरीखा।

विपक्ष: क्रोम जैसा तेज और फायरफॉक्स जैसा सुव्यवस्थित नहीं।

डाउनलोड करें:
www.apple.com/safari download

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वेब सर्फिंग नए आयाम