DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

24 वर्ष पुराने चोरी के मामले में सात लोगों को सजा

वर्ष 1987 में एक लाख रुपये मूल्य की रेलवे संपत्ति चुराने के आरोप में एक फास्ट ट्रैक अदालत ने रेलवे सुरक्षा बल के एक कांस्टेबल समेत सात लोगों को जेल की सजा सुनाई है। फास्ट ट्रैक अदालत की अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कावेरी बावेजा ने कहा, याचिकाकर्ता छोटे लाल, राम अवतार, मेघराज, सुरिंदर कुमार, जितेंद्र कुमार, रमेश कुमार और एसपी श्रीवास्तव को हिरासत में लिये जाने का आदेश दिया जाता है।

दिलचस्प रूप से जब्त संपत्ति को बचाकर अभियोजन सभी सातों को सजा दिलाने में सक्षम रहा। इन लोगों ने रेलवे गोदाम से बॉल बीयरिंग चुराई थी और ये अब भी अच्छी स्थिति में थीं। इन्हें चोरी के साक्ष्य के तौर पर पेश किया गया।

निचली अदालत के नवंबर 2010 के आदेश के खिलाफ उनकी अपील को खारिज करते हुए न्यायाधीश ने सातों को जेल भेज दिया। निचली अदालत ने उन्हें बॉल बीयरिंग चुराने का दोषी पाया था। रेलवे संपत्ति अधिनियम के तहत श्रीवास्तव, मेघराज, सुरिंदर, जितेन्द्र और रमेश को दो वर्ष कैद और प्रत्येक पर दस हजार रुपये का जुर्माना किया गया वहीं राम अवतार और छोटे को एक वर्ष जेल ओर तीन हजार रुपये जुर्माना किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:24 वर्ष पुराने चोरी के मामले में सात को सजा