DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद, वरिष्ठ संवाददाता। दिल्ली की तरह गाजियाबाद में भी रिंग रोड बनेगा। इसके प्रोजेक्ट को शासन ने हरी झंडी दे दी है। शनिवार को लखनऊ में आवास विकास एवं शहरी नियोजन के सचिव आलोक कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। जीडीए वीसी नरेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि बैठक में यह भी तय हो गया है कि इस सड़क का निर्माण पीपीपी मोड पर किया जाएगा।

रिंग रोड के पावर प्रेजेंटेंशन के बाद सचिव ने रिंग रोड को उपयोगी बताया है। छह लेन चौड़ी और 25 किलोमीटर लंबी यह सड़क शासन की प्राथमिकता में शामिल हो गई है। इससे ट्रैफिक जाम और कनेक्टिीविटी की समस्या दूर होगी। लखनऊ में हुई बैठक में जीडीए से चीफ इंजीनियर आरके सिंह, अधिशासी अभियंता सुशील द्विवेदी ने शिरकत की। गाजियाबाद में बनने वाली रिंग रोड एनएच-24, एनएच-58 और जीटी रोड को जोड़ेगी। 25 किलोमीटर की रिंग रोड पर 509 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जीडीए ने ढाई साल में इस सड़क बना लेने का लक्ष्य रखा है।

इसके बन जाने लोगों जाम से मुक्ति मिल सकेगी। रिंग रोड का सफर-एनएच-24 (हापुड़ रोड) मधुबन-बापूधाम के पास से 100 मीटर चौड़ी मास्टर प्लान रोड मधुबन योजना होते हुए एनएच-58 (मेरठ रोड) को जोड़ेगी।-मेरठ रोड पर मुरादनगर के पास से एक नई सड़क प्रस्तावित की जा रही है जो प्रस्तावित पाइप लाइन रोड (दिल्ली-मेरठ गंगा वाटर लाइन के समानांतर) पर जा कर मिलेगी।-पाइप लाइन रोड से एक और सड़क प्रस्तावित की गई है जो निर्माणाधीन करहेड़ा ब्रिज के पास मिलेगी।

-करहेड़ा मार्ग मेरठ रोड बाईपास से जुड़ा है। मेरठ रोड बाईपास जीटी रोड और एनएच-58 को जोड़ चुका है। इस प्रकार एक रिंग रोड बन जाएगी। बढ़ जाएगी कनेक्टीविटी-नई रिंग रोड से तीनों हाईवे की कनेक्टीविटी आसान हो जाएगी-जिले में ही नहीं आसपास के शहरों से भी आसान हो जाएगी कनेक्टीविटी-मेरठ, मुरादनगर, हापुड़, नोएडा, दिल्ली के लोग गाजियाबाद में कहीं भी आसानी से आ-जा सकेंगे। -महानगर के महाजाम प्वाइंट पर जाम से मिलेगी राहत

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीस महीने में बन जाएगी 25 किलोमीटर लंबी रिंग रोड