DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पताल लील गया 90 जिंदगियां

लोग अस्पताल जाते हैं तो उम्मीद करते हैं कि उनकी जान बच जाएगी लेकिन दक्षिण कोलकाता के एक अस्पताल में शुक्रवार तड़के लगी आग और फिर प्रबंधन की लापरवाही ने 90 जिंदगियों को लील लिया।

दक्षिण कोलकाता के ढाकुरिया स्थित एएमआरआई अस्पताल में मौत इतने दबे पांव आई कि तमाम मरीजों को संभलने का मौका ही नहीं मिला। वहीं टूटी-फूटी हड्डियों के कारण चलने के असहाय कुछ मरीज तो सिर्फ इसलिए मारे गए कि उनकी देखभाल करने वाले डॉक्टर और अन्य अस्पताल कर्मी खुद अपनी जान बचाने के लिए भाग गए थे।

एएमआरआई अस्पताल के बेसमेंट में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगने की घटना शुक्रवार तड़के हुई। देखते-देखते धुआं पूरे अस्पताल में फैल गया। ज्यादातर मरीजों की मौत धुएं में दम घुटने के कारण ही हुई है।

बिल्डिंग के चौथे और पांचवे तले पर आइसीयू, आइसीसीयू, आइटीयू और क्रिटिकल केयर यूनिट हैं। इसी तल में भर्ती मरीज सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। हादसा चूंकि एकदम सुबह हुआ था उस समय ज्यादातर मरीज नींद में ही थे। हादसे में मरने वालों में तीन नर्से भी शामिल हैं।

घटनास्थल पर पहुंची मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हादसे की उच्च स्तरीय जांच और अस्पताल के मालिक और प्रबंधन के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया। अस्पताल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और कड़ी कार्रवाई किए जाने की तैयारी हो रही है।

ममता के निर्देश पर अस्पताल बोर्ड के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें एस.के. तोदी, आर.एस. गोयनका, रवि गोयनका, मनीष गोयनका, प्रशांत गोयनका और दयानंदर अग्रवाल शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अस्पताल लील गया 90 जिंदगियां