DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्भवती महिलाओं को टीबी का खतरा

चेतावनी- 69 फीसदी अधिक होता है गर्भवती महिलाओं को टीबी होने का खतरा- 1.9 लाख महिलाओं पर 12 साल तक हुए शोध के बाद निकला नतीजावाशिंगटन एजेंसियांगर्भवती महिलाओं को टीबी (ट्यूबोक्लॉसिस)होने का खतरा समान्य महिलाओं के मुकाबले कहीं अधिक होता है। यह दावा किया है अमेरिकी हेल्थ प्रोटेक्टशन एजेंसी (एउचपीए)ने। अमेरिकन जर्नल ऑफ रेस्पाइरेट्री एंड क्रिटिकल केयर मेडिसीन में प्रकाशित शोधपत्र में वैज्ञानिकों का कहना है कि गर्भवस्था और बच्चों के जन्म से छह महीने बाद तक महिलाओं के बीमार होने की आशंका 69 फीसदी अधिक होती है। शोधकर्ताओं ने उन महिलाओं को चेतावनी दी है जो गर्भवस्था के दौरान और बाद में टीबी के लक्ष्णों को नजरअंदाज करती हैं । शोधकर्ताओं का कहना है कि ऐसी महिलाओं को बाद में इस लापरवाही का घातक परिणाम भुगतना पड़ता है।इस नतीजे पर पहुंचने के लिए शोधकर्ताओं के दल ने करीब 1,90,000 महिलाओं पर लगातार 12 साल तक अध्ययन किया। शोध दल ने पाया कि प्रत्येक एक लाख गर्भस्थ महिलाओं में 15.4 फीसदी टीबी की शिकार थी । जबकि समान्यों महिलाओं में यह स्तर महज 9.1 फीसदी था।शोधकर्ताओं का मानना है कि गर्भवस्था और उसके छह महीने बाद तक शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है और ऐसे समय में सांस की बीमारियों की चपेट में आने की आशंका सबसे अधिक होता है। एचपीए में टीबी रोग नियंत्रक और यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंजेला में संक्रमक रोगों के विशेषज्ञ प्रोफेसर इब्राहिम अबूबकर ने कहा, इस शोध से भविष्य में स्वस्थ्य कार्यकताओं को, खासतौर दाईयों को परीक्षण देने में मदद मिलेगी। इसी के साथ उन गर्भवती महिलाओं को भी सचेत किया जा सकेगा जिनमें टीबी के लक्षण तो होते हैं पर वें उसे समय रहते समझ नहीं पाती है। एचपीए ने दावा किया कि अमेरिका में विगत सालों में टीबी के मामलों में इजाफा हुआ है क्योंकि बड़ी संख्या में एशियाई और अफ्रीकी लोग आकर बसे हैं जहां पर टीबी का संक्रमण समान्य है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गर्भवती महिलाओं को टीबी का खतरा