DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्माणाधीन गोदाम का लेंटर गिरा, आठ घायल

 गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता। कविनगर स्थित लोहा मंडी में शुक्रवार दोपहर एक स्टील कंपनी के निर्माणाधीन गोदाम का लेंटर गिर गया। इससे वहां अफरातफरी मच गई। देखते ही देखते प्रशासन के साथ सैकड़ों लोग बचाव कार्य में जुट गए। मलबा हटाने में आठ घंटे से ज्यादा का समय लग गया। हादसे में आठ मजदूर घायल हो गए। घायलों को एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लेंटर गिरने की वजह शटरिंग फिसलना बताया जाता है। घटना के बाद से शटरिंग ठेकादार फरार है। देर रात तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी। लोहा मंडी में श्री लक्ष्मी स्टील्स और महालक्ष्मी स्टील्स के नाम से गोदाम हैं। लक्ष्मी स्टील्स 264 और महालक्ष्मी 399 नंबर की शॉप में हैं। इनके मालिक राजकुमार व राजेश कुमार हैं और दोनों भाई हैं। दोनों बिजनेस पार्टनर भी हैं।

महालक्ष्मी स्टील्स का गोदाम करीब 20 दिन पूर्व बनकर तैयार हो चुका था। जबकि लक्ष्मी स्टील्स के गोदाम में शुक्रवार सुबह से लेंटर लगने का कार्य चल रहा था। निर्माणाधीन गोदाम में करीब 28 मजदूर कार्य कर रहे थे। इनमें विजयनगर निवासी गजराज सिंह को मैनपॉवर और बाबूराम को शटरिंग का ठेका दिया गया था। शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे लंच टाइम था। इस दौरान ठेकादारों समेत 10 मजदूर कार्य कर रहे थे। बाकी मजदूर लंच करने चले गए।

बताया जाता है कि उसी दौरान शटरिंग को सपोर्ट करने वाले बल्ली खिसक गई और अचानक भरभरा कर लेंटर नीचे गिर पड़ा। इसमें कई मजदूर दब गए। बाद में लोगों ने उन्हें निकाला।हादसे में ठेकेदार गजराज सिंह (55), मजदूर एमपी निवासी कैलाश (22), किशोर (40), जयराम (38), लोकेंद्र (29), मिस्त्री तुलसीराम (25), खुशीराम (24) और अमरोहा निवासी होशियार सिंह घायल हो गए। स्थानीय लोगों ने हादसे की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। मौके पर पुलिस और विभिन्न अस्पतालों की एम्बुलेंस पहुंच गई। सभी घायलों को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया।

प्रत्यक्षदर्शी संगम गोयल बताते हैं कि जिस वक्त भरभरा कर लेंटर गिरा बहुत तेज से मजदूरों की चीखने की आवाज आई। मौके पर मौजूद मजदूर अन्य लोगों ने घंटों मशक्कत के दबे लोगों को मलबे से बाहर निकाला। मौके पर पुलिस-प्रशासन के दर्जनों अधिकारी पहुंचे और हालात का जयाजा लिया। डीएम शशि भूषण लाल ने बताया कि हालात पर काबू पा लिया गया है। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। फरार शटरिंग ठेकेदार बाबूराम की तलाश की जा रही है।

बचाव कार्य में कौन-कौन लगा -दो दर्जन वॉलंटियर्स-एक दर्जन सिविल डिफेंस के लोग-पुलिस-प्रशासन के आला अधिकारी समेत 50 पुलिसकर्मी-50 से ज्यादा स्थानीय लोग-चार क्रेन, चार गैस कटर अधिकारी करते रहे खानापूर्ति दोपहर दो बजे की घटना की सूचना पाकर मौके पर करीब आधे घंटे में पुलिस बल, सीओ, थाना प्रभारी, एसएसपी, डीएम, एडीएम फाइनेंस, सिटी मजिस्ट्रेट, जीडीए अधिकारी समेत दर्जनों अधिकारी पहुंच गए। देर शाम तक मलबा हटाने का काम चलता रहा।

लेकिन अधिकारी सिर्फ खानापूर्ति करते रहे।लेंटर व निर्माणाधीन इमारत गिरने से हुए हादसेमई 2011- विजयनगर स्थित एक प्राइवेट स्कूल की दीवार गिरने से क्रिकेट खेल रहे तीन बच्चों घायल। जुलाई 2011- साहिबाबाद इलाके में स्थित शालीमार गार्डन में इमारत गिरी, पांच लोगों की मौत

नवंबर 2011- इंदिरापुरम इलाके के भोवापुर गांव में जीडीए बाउंडरी वॉल गिरने से दो मजदूर घायल। नवंबर 2011- वैशाली में एक निर्माणाधीन इमारत गिरने से दो की मौत। अक्टूबर 2010- वैशाली स्थित एक मॉल का लेंटर गिरने से दो की मौत।दिसंबर 2010- विजयनगर स्थित एक निर्माणाधीन साइट पर ढांग गिरने से तीन की मौत।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निर्माणाधीन गोदाम का लेंटर गिरा, आठ घायल