DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश और शिवानंद का लाई डिटेक्टर परीक्षण हो: राजद

बिहार में मुख्य विपक्षी दल राजद ने करोड़ों रुपये के चारा घोटाले में लाभ लेने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू प्रवक्ता शिवानंद तिवारी का झूठ पकड़ने वाली मशीन (लाई डिटेक्टर) से जांच कराने की मांग की।

विधानसभा में विरोधी दल के नेता अब्दुल बारी सिद्दिकी ने कहा कि चारा घोटाला मामले में सीबीआई को नीतीश कुमार शिवानंद तिवारी और जदयू के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह की लाई डिटेक्टर मशीन से जांच होनी चाहिए। तीनों के खिलाफ चारा घोटाले में अनुचित लाभ लेने का रिकार्ड किया हुआ बयान डी चंडोक ने दिया है।

उन्होंने बताया कि सीबीआई को तीनों की झूठ पकड़ने वाली मशीन से जांच करनी चाहिए और आरोपों को गंभीरता से लेना चाहिए। सिद्दिकी ने कहा कि मुख्यमंत्री सारे विषय पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे हैं। यदि मुख्यमंत्री, तिवारी और सिंह निर्दोष हैं तो उन्हें सार्वजनिक रूप से इसका खंडन करना चाहिए, सदन में बयान देना चाहिए और अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

राजद नेता ने कहा कि हमने कई बार कार्य स्थगन प्रस्ताव का नोटिस देकर इस विषय को उठाने का प्रयास किया लेकिन विधानसभाध्यक्ष ने इसे खारिज कर दिया। संसदीय लोकतंत्र के लिए यह सही नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नीतीश और शिवानंद का लाई डिटेक्टर परीक्षण हो: राजद