DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेडे हत्याकांड: न्यायिक हिरासत में जिग्ना वोरा

वरिष्ठ पत्रकार ज्योतिर्मय डे की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार पत्रकार जिग्ना वोरा और छोटा राजन गिरोह के सदस्य पॉलसन जोसेफ को एक विशेष अदालत ने 20 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
    
अभियोजक दिलीप शाह ने अदालत को बताया कि क्राइम ब्रांच दोनो की पुलिस हिरासत की मांग नहीं कर रही है क्योंकि दोनो से आगे हिरासती पूछताछ की दरकार नहीं है। इसपर महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून के तहत विशेष अदालत ने उन्हें जेल भेज दिया। इसी से जुड़े एक अन्य घटनाक्रम में क्राइम ब्रांच ने एक आवेदन देकर 2005 के शस्त्र मामले के एक अन्य आरोपी सतीश कालया की हिरासत की मांग की। अदालत द्वारा अनुरोध मान लिए जाने पर उसे दक्षिण मुंबई में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा।
    
कालया राजन गैंग का कथित शार्प शूटर है और इस समय डे हत्याकांड में न्यायिक हिरासत में है। एशियन ऐज की डिप्टी चीफ आफ ब्यूरो जिग्ना वोरा को 25 नवंबर को मकोका के तहत गिरफ्तार किया गया था और उसपर डे से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे उसकी मोटरसाइकिल का लाइसेंस प्लेट नंबर और उसका पता राजन को देने का आरोप है। जोसेफ को इससे पूर्व गिरफ्तार किया गया था और उसे समय समय पर पुलिस और न्यायिक हिरासत में भेजा जाता रहा है। वोरा की गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच ने जोसेफ की पुलिस हिरासत की मांग की थी ताकि उससे पूछताछ की जा सके। अब चूंकि वह पूछताछ हो चुकी है इसलिए उसे वापस न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
     
शहर के टैबलॉयड मिड डे में काम करने वाले डे की कथित रूप से राजन के इशारे पर हत्या कर दी गई थी। आरोप है कि राजन ने भाड़े के हत्यारों को इस काम के लिए पांच लाख रूपए दिए थे और उन्होंने 11 जून को डे को मुंबई के उपनगरीय इलाके पवई में मौत के घाट उतार दिया था। पुलिस ने तीन दिसंबर को गिरफ्तार आरोपियों रोही थंगप्पन जोसेफ उर्फ सतीश कालया, अभिजीत शिंदे, अरूण डाके, सचिन गायकवाड़, अनिल वाघमोडे, नीलेश शेंगदे, मंगेश अगवाने, विनोद असरानी, पॉलसन जोसेफ और दीपक सिसोदिया के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया।
     
पुलिस का आरोप है कि राजन डे द्वारा लिखे गए दो लेखों से चिढ़ा हुआ था, जिसमें उसकी बुराई की गई थी। पत्रकार की हत्या करके वह मीडिया को यह संदेश देना चाहता था कि उसके खिलाफ लिखने वालों को वह निशाने पर लेगा। 3055 पन्ने के इस आरोपपत्र में कहा गया है कि जिग्ना ने प्रोफेशनल रंजिश के चलते राजन को डे की हत्या के लिए उकसाया। पुलिस के अनुसार बाद में वोरा के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। वह मामले में गिरफ्तार 11वीं आरोपी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेडे हत्याकांड: न्यायिक हिरासत में जिग्ना वोरा