DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजद विधायक की सदस्यता समाप्त करने की मांग

बिहार विधानसभा में शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ अमर्यादित शब्दों का प्रयोग किए जाने पर सत्ता पक्ष ने कड़ी आपत्ति जताते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के भाई वीरेंद्र की सदस्यता समाप्त करने की मांग की।

विधानसभा में प्रश्नकाल समाप्त होते ही विधानसभा के अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने राजद के सम्राट चौधरी, भाई वीरेंद्र, अब्दुल गफूर और दिनेश कुमार सिंह की ओर से दिए गए कार्यस्थगन प्रस्ताव को नियमानुकूल नहीं बताते हुए उसे अमान्य कर दिया। इस पर विपक्ष के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि उन्हें यह पता था कि कार्यस्थगन प्रस्ताव को अमान्य कर दिया जाएगा, लेकिन अध्यक्ष को कम से कम सदन को यह बताना चाहिए कि कार्यस्थगन प्रस्ताव किस विषय पर था।

इस पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जब विपक्ष को यह जानकारी थी कि इसे अमान्य कर दिया जाएगा तो वह सिर्फ सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए कार्यस्थगन का प्रस्ताव लाया था। इसके बाद प्रतिपक्ष के नेता सिद्दीकी और मोदी एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे जिसे शोरगुल में स्पष्ट तौर पर सुना नहीं जा सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजद विधायक की सदस्यता समाप्त करने की मांग