DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला अस्पताल में अनियमितताएं पाए जाने पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक निलंबित

बुलंदशहर जिला राजकीय अस्पताल में निरीक्षण के दौरान अनियमित्ताएं पाई जाने पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निलंबित कर अतिरिक्त स्वास्थ्य निदेशक कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है।

जिलाधिकारी कामनी चौहान रतन ने बताया कि विगत 29 नवम्बर को मुख्यमंत्री मायावती के प्रमुख
सचिव नेतराम जनपद में विकास कार्यों का निरीक्षण और भौतिक सत्यापन करने आए थे। इस दौरान बाबू बनारसी दास राजकीय चिकित्सालय में निरीक्षण के समय मरीजों से बातचीत में पता चला कि उन्हें जो दवाएं लिखी जाती हैं वह अस्पताल के बाहर मेडिकल स्टोर से लानी पड़ती हैं और अन्य संबंधित जांचें भी अस्पताल से बाहर करवाई जा रही हैं। मरीजों ने अभद्र व्यवहार करने और चिकित्सकों पर अपने घर पर मरीजों की चिकित्सकीय जांच करने के आरोप भी लगाए जो काफी हद तक सही पाए गए।

निरीक्षण में पाया गया कि अधीनस्त चिकित्सक और कर्मचारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के नियंत्रण में नहीं हैं।
प्रमुख सचिव के दौरे के दौरान शिकायतों के अम्बार मिलने और संबंधित चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने के कारण अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक आर के वर्मा को शासन ने निलंबित कर दिया है और उन्हें अतिरिक्त स्वास्थ्य निदेशक, मेरठ के कार्यालय से सम्बद्ध कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुख्य चिकित्सा अधीक्षक निलंबित