DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कचरा प्रबंधन की प्रक्रिया जल्द

पटना, हिन्दुस्तान ब्यूरो। नगर विकास मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि राजधानी में ठोस अवशिष्ट और कचरा प्रबंधन की प्रक्रिया जल्द शुरू हो जायेगी। गुरुवार को विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान राजद के सदस्य दुर्गा प्रसाद सिंह ने यह मामला उठाया। उनका कहना था कि राजधानी में बड़ी संख्या में मैनहौल और कैचपिट पर ढक्कन नहीं है।

कचरा का उठाव भी नहीं हो रहा है। मंत्री ने कहा कि 1552 मैनहोल और 900 कैचपिट पर ढक्कन लगाया जा रहा है। कचरा प्रबंधन के लिए रामाचक बैरिया में 80 एकड़ जमीन अधिगृहित की गयी है। फिलहाल चहारदीवारी का निर्माण हो रहा है।

गोदाम :- भाजपा के सदस्य विनोद नारायण झा के प्रश्न पर मंत्री श्याम रजक ने कहा कि राज्य के 347 प्रखंडों में 100 करोड़ रुपये की लागत से गोदाम बनवाये जा रहे हैं। उसके बाद अनाज के वितरण में आसानी हो जायेगी। मंत्री ने बताया कि केन्द्र सरकार 65 लाख परिवारों के लिए ही अनाज देती है।

शेष परिवारों का पेट भरने के लिए राज्य सरकार को पांच लाख टन गेहूं और सात लाख टन चावल की खरीद कर रही है। मिलेगी जमीन :- सदस्या मंजू हजारी के प्रश्न पर राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री ने कहा कि समस्तीपुर में औराग्राम के 150 महादलित भूमिहीन परिवारों को चार माह के भीतर जमीन उपलब्ध करा दी जायेगी। फिलहाल तमाम परिवार करेह नदी के तटबंध पर शरण लिये हुए हैं।

हुडको पर कार्रवाई :- नगर विकास मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि हुडको की सुस्ती के कारण शहरी गरीबों को मकान नहीं मिल सका। एजेंसी पर कार्रवाई के लिए केन्द्र सरकार से शिकायत की जायेगी। आधारभूत सुविधा कार्यक्रम (बीएसयूपी) के तहत शहरी गरीबों के लिए 22372 मकान बनने थे लेकिन मात्र 534 मकानों का ही निर्माण शुरू हो सका।

राज्य सरकार इस योजना को बिहार शहरी अभियंत्रण कोषांग के माध्यम से पूरा कराने का प्रयास कर रही है। इसके लिए 28 शहरों का सर्वेक्षण हो रहा है। बीएसयूपी में 80 प्रतिशत केन्द्र और 20 प्रतिशत राज्य का हिस्सा होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कचरा प्रबंधन की प्रक्रिया जल्द