DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कचहरी में हड़ताल से वादकारी रहे बेहाल

गाजियाबाद। वरिष्ठ संवाददाता। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की बेंच की मांग को लेकर गुरुवार को अधिवक्ता हड़ताल पर रहे। इससे वादकारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। अधिवक्ता 15 दिसंबर को भी हड़ताल पर रहेंगे। वहीं, हाइकोर्ट बेंच संघर्ष समिति की 17 दिसंबर को गाजियाबाद में बैठक होनी है। इसमें बेंच मांग को लेकर भविष्य की रणनीति तैयार की जाएगी।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाइकोर्ट बेंच की मांग अधिवक्ता अरसे से कर रहे हैं। इसको लेकर वकील हड़ताल पर रहे। उन्होंने अपनी मांगों को लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया। अधिवक्ताओं की गुरुवार को हुई हड़ताल के चलते इस सप्ताह में लगातार तीसरे तीन कचहरी में कामकाज नहीं हो पाया है। मंगलवार को मोहर्रम तथा बुधवार को कंडोलेंस के कारण कामकाज नहीं हो पाया था।

इस सप्ताह अब सिर्फ शुक्रवार को ही काम होगा क्योंकि शनिवार को द्वितीय शनिवार का सरकारी अवकाश है। बार अध्यक्ष राकेश त्यागी के मुताबिक वादाकारियों को हाइकोर्ट तक पहुंचने में समय और धन की बर्बादी करनी पड़ती है। अधिवक्ता अपनी मांग को लेकर 15 दिसंबर को भी कार्य नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि बेंच की मांग कर रही संघर्ष समिति की गाजियाबाद में 17 दिसंबर को बैठक होनी है। उसमें ही आगे की लड़ाई का रुख तय हो पाएगा। टैक्स एडवोकेट्स ने समर्थन दियाटैक्स एडवोकेट्स क्लब ने बेंच स्थापना की मांग कर रही बार एसोसिएशन को समर्थन देते हुए गुरुवार को कामकाज नहीं किया। अध्यक्ष विपिन कुमार तथा महासचिव जावेद खान सफ के मुताबिक गरीब आदमी को महंगी न्याय व्यवस्था से बेंच स्थापना के बाद खासी राहत मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कचहरी में हड़ताल से वादकारी रहे बेहाल