DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अदालत ने आंदोलनकारी शिक्षकों को वार्ता का न्योता दिया

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अस्थायी शिक्षकों के आंदोलन में हस्तक्षेप करते हुए उन आंदोलनकारी शिक्षकों को वार्ता का न्योता दिया है, जिन्होंने गुरुवार को आत्मदाह करने की धमकी दी थी। शिक्षा गारंटी योजना (ईजीएस) के तहत अस्थायी आधार पर नियुक्त शिक्षक सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं।

इन शिक्षकों ने अपनी एक सहकर्मी को मुक्तसर जिले में सत्तारूढ़ पार्टी के एक नेता (सरपंच) द्वारा रविवार को थप्पड़ मारे जाने के बाद अपना आंदोलन तेज कर दिया। इस शिक्षिका को उस वक्त थप्पड़ जड़ दिया गया, जब वह यह मुद्दा उठाने की कोशिश कर रही थी।

मुक्तसर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इंदर मोहन सिंह ने 11 ईजीएस शिक्षकों के एक समूह से मुलाकात की। शिक्षकों ने जिले के गिद्देरबाहा में गुरुवार को आत्मदाह करने की धमकी दी थी। ईजीएस शिक्षकों के संगठन के अध्यक्ष प्रीतपाल सिंह ने कहा, मुक्तसर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने हमसे कहा है कि बादल हमारे मुद्दे का समाधान करने के लिए 11 दिसंबर को बादल चंडीगढ़ में एक बैठक के लिए तैयार हो गए हैं।

हालांकि, सिंह ने कहा कि यदि उनकी मांगें राज्य सरकार पूरी नहीं करती है तो वे 11 दिसंबर से अपना संघर्ष तेज कर देंगे। उन्होंने कहा कि सरपंच को बगैर देर किये जेल भेज दिया जाना चाहिए। सिंह ने कहा कि उनकी यह मांग है कि पुलिस को उस सरपंच के खिलाफ उचित कार्रवाई करनी चाहिए जिसने सरेआम शिक्षिका को थप्पड़ मारा था। पुलिस ने सरपंच को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन कुछ ही घंटे में उन्हें रिहा कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अदालत ने आंदोलनकारी शिक्षकों को वार्ता का न्योता दिया