DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऊनी कपड़ों का रखिए खास खयाल

सर्दियों ने दस्तक दे दी है और एक बार फिर अलमारियों और पलंग की दराजों से बाहर निकल आए हैं ऊनी कपड़े। हर साल की तरह इस साल भी ऊनी कपड़ों की साज-संभाल, धुलाई, सफाई और देखभाल कहीं आपके लिए सिरदर्द बन कर तो नहीं आई? पेश हैं आपके लिए बड़े काम के सुझाव।

दो दिन पहले मीना की पड़ोसन ने उसे गर्म पानी में स्वेटर धोते देखा तो टोक दिया, ‘अरे, तुम्हें अपने स्वेटर से प्यार नहीं है क्या? गर्म पानी में स्वेटर धोने पर ना सिर्फ यह सिकुड़ जाएगा, बल्कि इसके रोएं भी निकल आएंगे।’ मीना को यह बात पता नहीं थी। पर वह इतना जरूर जानती थी कि शादी के बाद जब से उसने परिवार के सभी सदस्यों के ऊनी कपड़ों की साज-संभाल शुरू की है, कभी कोई रोएं निकलने की शिकायत करता है तो कोई सिकुड़न की।
 
ऊनी कपड़ों की देखभाल आम कपड़ों से बिलकुल अलग है। घर के बुने स्वेटर और रेडीमेड स्वेटर की भी सफाई के दो अलग तरीके हैं। स्वेटर की उम्र इस बात से भी बढ़ती है कि आप सर्दियों के बाद उन्हें किस तरह से और कहां स्टोर करके रखती हैं।

क्या है ऊनी कपड़ों की सही धुलाई का तरीका
जैसे ही आप इस साल ऊनी कपड़ों को बंद अलमारी या दराजों से बाहर निकालें, उन्हें झाडें और टिश्यू में हल्का-सा पानी छिड़क कर कपड़ों की सफाई करें और कम से कम दो-तीन घंटे धूप में दिखाएं। अगर आपने पिछले साल ऊनी कपड़ों को पैक करते समय उनकी धुलाई नहीं की है तो ऐसा करना और भी जरूरी है। ऊनी कपड़ों में अमूमन फंगस लग जाता है।

अगर कपड़ों से बदबू आ रही है तो धोने की बजाय उन्हें कागज पर फैला कर रखें और अच्छी तरह से धूप दिखाएं। इसके बाद ठंडे पानी में हल्का डिटर्जेट या ऊनी कपड़ों का डिटर्जेट डाल कर दस मिनट भिगो दें। फिर उन्हें हैंगर की सहायता से या कुरसी पर फैला कर धूप में सुखाएं। ऊनी कपड़ों को गर्म पानी में ना धोएं। रोएं निकल जाते हैं। पानी ठंडा रखें। जिस डिटर्जेंट से आप आम कपड़े धोती हैं, उनका इस्तेमाल ना करें।

अगर आपके पास ऊनी कपड़ों का डिटर्जेट नहीं है तो बच्चों का शैंपू या साबुन का हलका घोल बना लें। इससे स्वेटर साफ करें। ऊनी कपड़ों में अगर दाग लग जाए तो टिश्यू पेपर में हलका- सा साबुन लगा कर हलके हाथों से पोछें। घर के दूसरे कपड़े की तरह स्वेटर की धुलाई नियमित ना करें। अगर आपको लग रहा है कि स्वेटर गंदा हो गया है तो उसे ठंडे पानी में पांच मिनट के लिए भिगो दें। फिर धोएं।
 
अगर आप ऊनी कपड़े धोने के लिए वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल करती हैं तो मान कर चलिए कि आप अपने कपड़े की उम्र घटा रही हैं। ऊनी कपड़ों को कभी ड्रायर में ना सुखाएं। इससे कपड़े सिकुड़ जाएंगे।

जब भी आप ऊनी कपड़ों को पैक करें, ऐसी जगह रखें, जहां हवा आती हो। बेहतर होगा कि आप मलमल के कपड़े या कागज में ऊनी कपड़ों को पैक करें। बिना हवा लगे ऊनी कपड़े जल्दी खराब हो जाते हैं और धागे कमजोर हो कर टूटने लगते हैं। कम जगह में ढेर सारे ऊनी कपड़ों को न रखें। इससे आपके कपड़ों के खराब होने का खतरा बढ़ जाता है। अगर वॉर्डरोब में जगह कम है तो गर्मी के कपड़ों को भीतर रख दें।
(द वुलन पीपल के मैनेजर धीरेंद्र धूलिया से बातचीत पर आधारित)

दाग हो जाएंगे गायब!
- फलों के दाग को हटाने के लिए दाग के ऊपर सबसे पहले ग्लिसरीन लगाएं और फिर कपड़े को धोएं। दाग गायब हो जाएंगे।
- कीचड़ के निशान हटाने के लिए पहले ब्रश की मदद से सूखे कीचड़ को हटाएं और उसके बाद गुनगुने पानी से ऊनी कपड़े को धोएं। आप पानी में थोड़ा-सा अमोनिया भी मिला सकती हैं।
- ऊनी कपड़ों पर शराब गिर गई है तो निशान के ऊपर थोड़ा-सा सोडा वाला पानी डालें।
- अगर ऊनी कपड़े पर इंक का निशान लग गया हो तो उसके ऊपर टमाटर का जूस लगाने और उसके बाद कपड़े को धोने से निशान हल्के हो जाते हैं।
- अगर ऊनी कपड़े या कंबल पर तेल का निशान लग गया है तो पहले उस कपड़े के उस हिस्से पर हल्के हाथों से दही लगाएं और कपड़े को धो लें। तेल का निशान गायब हो जाएगा। निशान पर पाउडर छिड़कने से भी निशान हल्का होता है।
- अगर ऊनी कपड़े के ऊपर चाय गिरा ली है तो तुरंत कपड़े के उस हिस्से पर चीनी छिड़कें। ऐसा करने से दाग गहरा नहीं होगा। कुछ वक्त बाद कपड़े को गुनगुने पानी से धो लें। दाग गायब हो जाएगा।
- चॉकलेट के निशान को हटाने के लिए स्पंज को ठंडे पानी से गीला करें और फिर चॉकलेट के निशान को हटाएं।
- अगर ऊनी कपड़े पर गोंद का निशान लग गया है तो उस हिस्से पर शराब की कुछ बूंदें गिरा दें। दाग हट जाएगा।


बड़े काम की बात

1. गरम पानी और तेज साबुन आपके ऊनी कपड़ों के दुश्मन हैं।

2.अगर आपको वॉशिंग मशीन में ऊनी कपड़े धोने हैं तो पहले उन्हें कपड़े के थैले में डाल कर थैला बंद कर लें। फिर धोएं। इससे कपड़ों के रोएं नहीं निकलेंगे।

3.दूसरे कपड़ों की अपेक्षा ऊनी कपड़ों की धुलाई आसान है। इसमें ज्यादा वक्त नहीं लगता।

4.वुलन ब्लेजर को हमेशा ड्राईक्लीन करवाने की बजाय घर पर ही साफ तौलिये को बेबी शैंपू में भिगो कर उससे पोंछ लें। सूखने के बाद ऊपर से कागज लगा कर हलके हाथों से प्रेस कर लें। ब्लेजर नया-सा हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऊनी कपड़ों का रखिए खास खयाल