DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सही देखभाल, सालों देंगे आपका साथ

सर्दियों के वॉर्डरोब का अहम हिस्सा होते हैं तरह-तरह के ऊनी कपड़े। ये दिखने में खूबसूरत होने के साथ बेहद नाजुक भी होते हैं। आपके नाजुक ऊनी कपड़े सालों तक आपका साथ दें, इसलिए उनकी करें खास देखभाल

र्दियां आते ही वॉर्डरोब में रंगों की बहार आ जाती है। साल के अधिकांश महीनों में ट्रंक का हिस्सा बनने वाले ऊनी कपड़े आपके वॉर्डरोब में अपना दबदबा जमाने लगते हैं। पर ये ऊनी कपड़े आपसे खास देखभाल की मांग भी करते हैं। अपने ऊनी कपड़ों को सही स्थिति में रखने के लिए इन तरीकों को आजमाएं-

ऊनी कपड़ों को धोने के लिए हमेशा गुनगुने पानी और अच्छे लिक्विड डिटर्जेट का इस्तेमाल करें। ऊनी कपड़ों को धूप में नहीं, बल्कि छाया में सुखाएं। इससे न उनका रंग उड़ेगा और न ही शेप खराब होगी। फर वाले ऊनी कपड़ों को पहले गीले कपड़े से साफ करें और उसके बाद धोएं।

ऊनी कपड़ों को कभी भी ब्लीच न करें। कपड़ा पूरी तरह खराब हो जाएगा। एक ही ऊनी कपड़े को लगातार न पहनें। उन्हें दो-तीन दिन के अंतराल पर पहनें। ऊनी कपड़ों को अपनी शेप और साइज में आने में वक्त लगता है। दो-तीन दिन के अंतराल पर उन्हें पहनने से कपड़े की शेप और फिटिंग खराब नहीं होगी। साथ ही उन्हें पहनने के तुरंत बाद फोल्ड कर रखने की जगह हैंगर में कम-से-कम 24 घंटे के लिए लटका कर रखें। पहनने के दौरान स्वेटर में जो भी रिंकल्स पड़े होंगे, वो अपने आप ठीक हो जाएंगे।

कोट और जैकेट को कीड़े-मकौड़े आसानी से अपना घर बना सकते हैं। इस परेशानी से बचने के लिए उन्हें पहनने से पहले और पहनने के बाद एक बार ब्रश से साफ कर लें। सूती कपड़े में नेप्थलीन की गोली बांध कर या फिर नीम की सूखी पत्तियां ऊनी कपड़ों के बीच रखें। ऊनी कपड़ों को ड्राईक्लीन करवा कर या फिर धूप में सुखाने के बाद उन्हें स्टोर करके रखें।

अगर कोई स्वेटर ज्यादा भारी है तो उसे हैंगर में लटका कर रखने की जगह फोल्ड करके रखें। इससे स्वेटर की शेप खराब नहीं होगी। स्वेटर, स्टोल और शॉल का रंग खराब न हो, इसलिए पहली धुलाई से पहले उन्हें कुछ वक्त के लिए सेंधा नमक वाले पानी में डुबो कर रखें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सही देखभाल, सालों देंगे आपका साथ