DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैदी की अनिच्छित हत्या में कैदी को आजीवन कारावास

वाराणसी। कार्यालय संवाददाताएडीजे (पंचम) नरेंद्र देव मिश्रा की अदालत ने केंद्रीय कारागार में एक दूसरे कैदी की अनिच्छित हत्या के आरोपित गोंडा निवासी सेवक को आजीवन कारावास की सजा सुनायी है। साथ ही 50 हजार का अर्थदण्ड भी लगाया है। सेवक वर्तमान में जेल में ही बंद है। अभियोजन के अनुसार 18 दिसम्बर 2008 को केंद्रीय कारागार के वरिष्ठ अधिक्षक ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि 14/15 सितम्बर की रात करीब एक बजे बैरक नम्बर एक में कैदी सेवक ने दूसरे कैदी राजाराम को ईंट से मारकर घायल कर दिया। राजाराम को जेल के अस्पताल में भर्ती किया गया। हालत बिगड़ने पर उसे मंडलीय अस्पताल में भर्ती किया गया। राजाराम की 16 की रात मौत हो गयी। सेवक के ऊपर अनिच्छित हत्या का मुकदमा चला। संपूर्ण विचारण के बाद कोर्ट ने सजा सुनायी। एडीजीसी रूपनारायण ने 10 गवाहों को पेश किया। बता दें कि मृतक व आरोपित दोनों गोण्डा के रहने वाले हैं। उन्हें सजा काटने के लिए शिवपुर स्थित केंद्रीय कारागार में भेजा गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैदी की अनिच्छित हत्या में कैदी को आजीवन कारावास