DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिंग रोड खत्म करेगी एनएच-58 का 35 फीसदी ट्रैफिक

गाजियाबाद। गौरव त्यागी। लोनी से डासना फाटक तक 27 किलोमीटर लंबी रिंग रोड की फिजिबिलटी रिपोर्ट तैयार हो गई है। इसके बन जाने से इस रोड पर 55 हजार वाहन प्रतिदिन दौड़ेंगे। पीपीपी मॉडल पर बनने वाली रिंग रोड की फिजिबिलटी रिपोर्ट दस दिसंबर को लखनऊ में शासन के सामने रखी जाएगी। एनएच-24, 58 और जीटी रोड का जाम घटाने वाले प्रोजेक्ट को लेकर जीडीए और शासन गंभीर हैं। लोगों पर टोल का बोझ कम करने के लिए प्रोजेक्ट में रोड बनाने वाली कंपनी को लैंड राइट दिए जा सकते हैं। दिल्ली की तर्ज पर गाजियाबाद में रिंग रोड बनाने का प्रस्ताव जीडीए की बोर्ड बैठक में पास हो चुका है।

शासन से इसे पीपीपी मॉडल पर बनाने की मंजूरी मिली है। जीडीए ने इसकी फिजिबिलटी रिपोर्ट तैयार कर ली है। रिपोर्ट से साफ है कि एनएच-58 का 35 फीसदी ट्रैफिक रिंग रोड पर चला जाएगा। इससे मेरठ रोड तिराहा, हिंडन पुल, मोहननगर पर लगने वाला जाम खत्म हो जाएगा। देहरादून, हरिद्वार, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मेरठ से आने वाला 35 फीसदी ट्रैफिक पूर्वी दिल्ली में जाता है।

यह ट्रैफिक रिंग रोड का इस्तेमाल करेगा। इसके साथ हापुड़, मुरादाबाद के सहारे एनएच-24 पर आने वाला ट्रैफिक भी इस रोड के सहारे पूर्वी दिल्ली में एंट्री पाएगा। इससे डासना रेलवे फाटक से मोहननगर तक सभी जाम प्वाइंट खत्म हो जाएंगे। गाजियाबाद में भी हैवी ट्रैफिक एंट्री नहीं करेगा। फिजिबिलटी रिपोर्ट से साफ हो गया है कि आने वाले समय के लिए रिंग रोड बहुत जरूरी है। दस दिसंबर को यह रिपोर्ट शासन के सामने रखी जाएगी। रोड से टोल का झाम खत्म करने का प्रस्ताव भी तैयार हो गया है।

जीडीए अफसरों ने सुझाव दिया है कि रोड बनाने वाली कंपनी को लैंड राइट दिए जा सकते हैं। इससे सड़क पर टोल लगाने की कोई जरूरत नहीं पडेम्गी। प्रस्तावित रिंग रोड-एनएच-24 (हापुड़ रोड) मधुबन-बापूधाम के पास से 100 मीटर चौड़ी मास्टर प्लान रोड मधुबन योजना होते हुए एनएच-58 (मेरठ रोड) को जोड़ेगी-मेरठ रोड पर मुरादनगर के पास से एक नई सड़क प्रस्तावित की जा रही है जो प्रस्तावित पाइप लाइन रोड (दिल्ली-मेरठ गंगा वाटर लाइन के समानांतर) पर जा कर मिलेगी।-पाइप लाइन रोड से एक और सड़क प्रस्तावित की गई है जो निर्माणाधीन करहेड़ा ब्रिज के पास मिलेगी।

-करहेड़ा मार्ग मेरठ रोड बाईपास से जुड़ा है। मेरठ रोड बाईपास जीटी रोड और एनएच-58 को जोड़ चुका है।

यह प्रोजेक्ट पीपीपी मॉडल पर तैयार हो रहा है। गाजियाबाद के लिए रिंग रोड की बहुत जरूरत है। इससे जाम का झाम खत्म हो जाएगा। दस को फिजिबिलटी रिपोर्ट शासन के सामने रखी जा रही है।

हम प्रोजेक्ट पर जल्दी काम शुरू करने का प्रयास कर रहे हैं। एनके चौधरी, उपाध्यक्ष, जीडीए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिंग रोड खत्म करेगी एनएच-58 का 35 फीसदी ट्रैफिक