DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चलती फिरती लाइब्रेरी में हैं उर्दू की बेहतरीन किताबें

बरेली। वरिष्ठ संवाददाता। अगर आप उर्दू किताबें पढ़ने के शौकीन हैं तो 25 हजार किताबों की चलती-फिरती लाइब्रेरी में आपको मनपसंद किताबें मिल सकती हैं। वह भी किफायती दरों पर। जी हां, नेशनल कौंसिल फॉर प्रमोशन ऑफ उर्दू लेंग्वेज के तहत मोबाइल लाइब्रेरी बुधवार को दिल्ली से यहां पहुंची। बरेली कॉलेज में बुधवार को इस लाइब्रेरी को विद्यार्थियों के लिए खोला गया। लाइब्रेरी के संचालक वी सिद्दीकी ने बताया कि हमारे पास उर्दू साहित्य से जुड़ी करीब 25 हजार किताबें हैं। इनसाइक्लोपिडिया, कई बड़े साहित्यकारों की बायोग्रॉफी, हिंदी-उर्दू और अंग्रेजी-उर्दू डिक्शनरी, बच्चों के लिए मनोरंजक किताबें, गालिब, मीर तकी मीर, अमीर खुसरों, आदि की गजलों के संग्रह आदि लाइब्रेरी में मौजूद हैं।

उर्दू विभाग के अध्यक्ष डॉ. मोहम्मद नुरुलहक ने कहा कि सामान्यत: मार्केट में उर्दू से संबंधित ज्यादा किताबें नहीं मिल पाती हैं। सरकार के इस तरह के प्रयासों से हमें ऐसी कई अच्छी और जरूरी किताबें मिली हैं जो या तो दिल्ली मेंही मिल सकती थी या फिर इसके लिए किसी और दूसरे शहरों में जाना पड़ता। खास बात इस मोबाइल लाइब्रेरी की यह है कि यहां बल्क में किताबें मिल जाती है। इधर, बरेली कॉलेज में तमाम छात्रों और शिक्षकों ने किताबें खरीदीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चलती फिरती लाइब्रेरी में हैं उर्दू की बेहतरीन किताबें