DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौसा के बीडीओ पर गिर सकती है गाज!

 मधेपुरा ’ हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। भागलपुर कोसी पुनर्वास एवं पुनर्निर्माण योजना के तहत लाभाथियों की सूची में गड़बड़ी करने के आरोप में डीएम मिनहाज आलम ने चौसा प्रखंड के बीडीओ संजय कुमार के खिलाफ निलंबन की अनुशंसा की है जबकि फुलौत पश्चिमी के पंचायत सचिव को निलंबित कर दिया है।

डीएम ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस कार्य में उदासीनता के लिए उदाकिशुनगंज के एसडीओ मुकेश कुमार से भी शोकॉज किया है। कोसी पुनर्वास एवं पुनर्निर्माण योजना के तहत लाभार्थियों के चयन में गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर डीएम ने संज्ञान लेते हुए जांच टीम गठित की।

आपदा प्रबंधन के वरीय अपर समाहर्ता अजय कुमार के नेतृत्व में जांच टीम ने स्थलीय जांच की। वरीय अपर समाहर्ता ने बीडीओ के खिलाफ अपनी जांच रिपोर्ट में स्पष्ट किया कि कोसी पुनर्वास एवं पुनर्निर्माण योजना के तहत द्वितीय चरण के लाभुकों के चयन में भारी अनियमितता बरती गयी है। इसके लिए बगैर अनुश्रवण समिति की स्वीकृति के लाभार्थियों का चयन किया गया।

लाभार्थियों से अवैध राशि भी वसूली गई है। सदस्यों को लाभार्थियों की सूची भी उपलब्ध नहीं कराई गई। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में पंचायत सचिव के संबंध में उल्लेख किया कि पंचायत सचिव का पुत्र अपने पिता के बदले दबंगता और मनमाने तरीके से कार्य करता है। उसने रिश्वत लेकर लाभार्थियों की सूची बनायी जो अनुश्रवण समिति से पारित नहीं है। उन्होंने इस मामले में एसडीओ की लापरवाही की भी बात कही है।

डीएम मिन्हाज आलम ने जांच रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए चौसा के बीडीओ संजय कुमार के खिलाफ कोसी के आयुक्त सहित ग्रामीण विकास विभाग को कड़ी कार्रवाई के लिए अनुशंसा पत्र भेजा है। डीएम ने फुलौत पश्चिमी के पंचायत सचिव योगेन्द्र यादव को तत्काल निलंबित करने का आदेश दिया है। कोसी पुनर्वास एवं पुनर्निर्माण योजना के तहत द्वितीय चरण के लाभुकों के चयन में गड़बड़ी पर निरोधात्मक कार्रवाई में अभिरुचि नहीं दिखाने के लिए उदाकिशुनगंज के एसडीओ मुकेश कुमार से तीन दिनों के अंदर जवाब-तलब किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चौसा के बीडीओ पर गिर सकती है गाज!