DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूं ही नाराज हैं मंत्रीजी

प्रिय कपिल सिब्बलजी, मुझे आज भी याद है कि जब मैं आपको कांग्रेस प्रवक्ता के तौर पर टीवी पर देखा करता था और तब आपके हर तर्क पर मुग्ध हो जाता था यह सोचकर कि यह आदमी कितने अच्छे से, कितनी विनम्रता से अपनी बात कहता है। यह बात अधिक पुरानी भी नहीं है, दस-बारह साल पहले की ही है। पर आज जब आपको टीवी पर एक मंत्री की हैसियत से कुछ कहते हुए देखता हूं, तो बड़ी कोफ्त होती है। इंटरनेट पर आपत्तिजनक तस्वीरों आदि पर आप इतने नाराज क्यों हैं, यह मेरी समझ से बाहर है। इंटरनेट की दुनिया में मेरे जैसे छोटे-मोटे लोग भी गालियां खाते हैं और आलोचना सहते हैं।

आपके बयान पर जाने-माने एक पत्रकार ने ट्विटर पर आपका समर्थन किया, तो उनको मिनटों के भीतर गालियां पड़ीं, लेकिन उन्होंने पलटकर ट्विटर को नियंत्रित करने की बात नहीं कही। सूचना की लड़ाई है मंत्रीजी। आपको लड़ना है, तो आइए इस युद्धभूमि में, सूचना को सूचना से काटिए, अपनी कुर्सी की ताकत से नहीं। आपत्तिजनक फोटो हैं, तो उसकी शिकायत कीजिए। सोशल नेटवर्किंग साइटों पर इसे ब्लॉक किया जा सकता है।

हां, अगर आप सोच सकें, तो थोड़ा सोचें कि लोग सोशल नेटवर्किंग पर ही सरकार को क्यों निशाना बना रहे हैं। सरकारी प्रवक्ता बन चुके मीडिया के युग में सोशल नेटवर्किंग ने एक हथियार दिया है आम लोगों को। इस हथियार को छीनने की कोशिश मत कीजिए।
बीबीसी में सुशील झा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूं ही नाराज हैं मंत्रीजी