DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबंग दरोगा के बेटे ने कार से चीता मोबाइल रौंदी

बरेली, कार्यालय संवाददाता। एक दबंग दरोगा और उसके बेटे ने कार से चीता मोबाइल को टक्कर मार दी। जब सिपाहियों ने कार रोकनी चाही तो कार में सवार दरोगा और बेटे ने अपने एक साथी के साथ मिलकर सिपाहियों की पिटाई कर दी। सिपाहियों ने कार चालक को पकड़ने की कोशिश की लेकिन दरोगा और उसका साथी भागने में कामयाब रहे। दरोगा का बेटा पुलिस वालों के हत्थे चढ़ गया। दरोगा समेत तीनों लोगों के खिलाफ थाना प्रेमनगर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

प्रेमनगर थाना के कांस्टेबल राकेश चंद्र और राकेश कुमार चीता नं. 6 पर गश्त लगा रहे थे। देर रात अशोक नगर तिराहा पर एक कार तेजी से आई और उनकी बाइक को टक्कर मारते हुए भागने लगी। इस टक्कर से दोनों सिपाही बाइक से दूर जा गिरे। संभलकर उठे और कार रोकने की कोशिश की तो कार में से उतरकर एसआई सत्यवीर सिंह ने मारपीट शुरू कर दी। बाइक की नीली बत्ती तोड़ दी। दोनों वर्दी धारी सिपाहियों को पिटता देख आस-पास के लोग सहम गए। वहां आतंक का माहौल बन गया। इक्का दुक्का दुकानें खुली थीं, उन्होंने अपने शटर गिरा लिए।

अंत में दरोगा एक अन्य साथी सिद्धार्थनगर निवासी देवेश गंगवार के साथ मौके से कार लेकर भाग गया। जबकि उसका बेटा मोहित गंगवार पकड़ा गया है। पूछताछ में मोहित ने बताया कि उसके पिता एसआई सत्यवीर सिंह इन दिनों शाहजहांपुर के थाना गढिम्या रंगीन में तैनात हैं। यहां वह इज्जतनगर थानाक्षेत्र के बसंत विहार में रहते हैं।दरोगा पर मुकदमाशाहजहांपुर के गढिम्या रंगीन थाना में तैनात दबंग दरोगा सत्यवीर सिंह व अन्य पर आईपीसी की धारा 279, 337, 332, 323, 353, 427, 504, 506 में मुकदमा कायम हुआ है।

इन धाराओं में सरकारी कामकाज में बाधा, गाली-गलौज, मारपीट, तोड़फोड आदि का आरोप है। कांस्टेबल राकेश चंद्र की तहरीर पर यह मुकदमा दर्ज हुआ है।सिपाहियों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दे दिए गए थे। आरोपी दरोगा पर विभागीय कार्रवाई के लिए भी लिखा जा रहा है। राजकुमार, डीआईजी, बरेली

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दबंग दरोगा के बेटे ने कार से चीता मोबाइल रौंदी