DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों ने फूं का वनाधिकारी का पुतला, साधुओं ने सजाई

फोटो पड़ाव हिन्दुस्तान संवादकछुआ सेंचुरी का विरोध कर रहे डोमरी, सूजाबाद व कटेसर के ग्रामीणों ने मंगलवार को प्रभागीय वनाधिकारी डॉ. पीपी वर्मा का पुतला दहन किया। वहीं ग्रामीणों के साथ धरने पर बैठे साधुओं ने आठ दिसम्बर को आत्मदाह के लिए अपनी चिता सजा ली है। किसान संघर्ष समिति के मण्डल अध्यक्ष दीनानाथ श्रीवास्तव ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि एक तरफ सरकार किसानों के भविष्य की बात करती है। वहीं दूसरी तरफ किसानों की जमीन हड़पने में लगी है। जब सरकार हमें चैन से रोटी खाने नहीं दे रही है तो हमारे सामने आत्मदाह के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है और तयशुदा कार्यक्रम के तहत आठ दिसम्बर को साधु समाज के साथ हम किसान भी आत्मदाह करेंगे। साधुओं के अगुआ श्रीश्री कृष्णायनन जी महाराज ने कहा कि देश के नेता इतने भ्रष्ट हो गये हैं कि अब वह अपने फायदे के लिए साधु तक को नहीं छोड़ रहे हैं। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह आम जनमानस के लिए क्या करते होंगे। उन्होंने कहा कि आये दिन वन विभाग के अधिकारी आश्रम में आकर राम रसायन महायज्ञ में विघ्न डाल रहे हैं। बार-बार अधिकारी आकर मठों को खाली करने की धमकी देते रहते हैं लेकिन साधु बड़ा हठी होता है और जब अपने जिद्द पर आ जायेगा तो सरकार हिल जायेगी। अगर सरकार अपने जिद्द पर अड़ी है तो साधु भी आठ दिसम्बर को आत्मदाह करेंगे। इस मौके पर शेषनाथ यादव, छेदी बाबा, जयनेश्वर स्वामी, मुनेश्वर स्वामी, रामचन्द्र यादव, गोविन्द, विष्णुचित मलहारी बाबा, दीपक श्रीवास्तव, लालबाबा, त्रिलाकी बाबा, गणेश बाबा, कोतवाल बाबा, बाबा प्रभुदास आदि मौजूद रहे। जमीन खाली करने को मिली नोटिसपड़ाव। वन विभाग ने कटेसर, डोमरी व सूजाबाद के गंगा किनारे करीब आठ सौ एकड़ जमीन को खाली करने की नोटिस दे दी है। सालों से यहां रह रहे लोगों को नोटिस मिलने के बाद वह सकते में हैं कि यहां से वह परिवार संग जायेंगे कहां? वहां रह रहे छन्ना, रमेश, कलावती देवी, राधा, सोनू, रामा, राजा, प्रभु, हंसलाल, शिवकुमार, संतोष, सरजू, प्रभावती, प्रदीप, पुदीना, दिलीप, सुरेश, रमेश आदि लोगों को नोटिस वन विभाग द्वारा मिली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्रामीणों ने फूं का वनाधिकारी का पुतला, साधुओं ने सजाई