DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ैपेज दो एंकर

इंतजार : महीने भर से बंद पड़ा है काम, प्रैक्टिस हो रही प्रभावितमेनपैसा मिलने के बाद भी लटका है एस्ट्रो टर्फ का कामबरेली। वरिष्ठ संवाददातासाई में बन रहे एस्ट्रो टर्फ का काम एक बार फिर लटक गया है। निर्माणदायी संस्था ने पूरा मैदान खोदकर काम बंद कर दिया। इससे टर्फ को लेकर इंतजार और बढ़ गया है। कैंट स्थित साई सेंटर पर तीन साल पहले हॉकी का एस्ट्रो टर्फ स्वीकृत हुआ था। सीपीडब्लूडी को इसके निर्माण की जिम्मेदारी सौपी गई थी। पिछले वर्ष इसके लिए तीन करोड़ 39 लाख रुपया भी स्वीकृत किया गया। पहली किस्त के रूप में संस्था को एक करोड़ 75 लाख रुपए दे भी दिए गए। इस साल अगस्त में संस्था ने काम शुरू दिया। मैदान को खोदकर उसमें बालू भर दी गई। उसके बाद पैसे की कमी बताकर काम रोक दिया गया। तीन नवंबर को साई ने सीपीडब्लूडी को एक करोड़ रुपये का चेक और दिया। उसके बाद भी काम शुरू नहीं हुआ है। पांच नवंबर को साई लखनऊ से आईं रीजनल हेड रचना गोविल ने भी इस बारे में सीपीडब्लूडी अधिकारियों से बात की। उसके बाद भी काम शुरू नहीं हुआ। एक हफ्ते पहले साई ने सीपीडब्लूडी से लिखित में यह बात पूछी है कि आखिर काम क्यों नहीं शुरू हुआ है? टर्फ का काम जिस गति से चल रहा है उसे देखकर लग रहा कि यह अपने निर्धारित समय फरवरी 2012 में शायद ही पूरा हो पाए। इस संदर्भ में सीपीडब्लूडी के ईई एसके कन्नौजिया से बात करने का प्रयास किया मगर वे फोन पर उपलब्ध नहीं हो सके। खिलाडिम्यों की बढ़ी परेशानीटर्फ में हो रही देरी के चलते खिलाडिम्यों की प्रैक्टिस लगातार प्रभावित हो रही है। साई ने वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में पड़ाेस वाला ग्राउंड ले रखा है मगर उससे भी बात बन नहीं रही। कुछ खिलाड़ी तो इसके चक्कर में डोरी लाल अग्रवाल स्टेडियम में आकर प्रैक्टिस करने लगे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ैपेज दो एंकर