DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढाई हजार व्यापारियों पर दलित उत्पीड़न में फर्जी मुकदमे साधा निशाना उत्तर

वाराणसी, कार्यालय संवाददाता। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल (मिश्र गुट) के महामंत्री अरुण अग्रवाल ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार फर्जी मुकदमे दर्ज कराकर व्यापारियों का उत्पीड़न कर रही है। प्रदेश के 2793 व्यापारियों पर दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज किया गया है। सरकार ने इसे वापस नहीं लिया तो व्यापारी आंदोलन को बाध्य होंगे।

कैंट स्थित एक होटल में मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि छोटा दुकानदार हिमालय की चोटी पर भी दुकान खोलकर जनता की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है तो रेगिस्तान की तपती धरती पर भी। लिहाजा खुदरा व्यापार में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति देना गरीब व्यापारियों को आत्महत्या के लिए विवश करना होगा।

उन्होंने कहा कि मनमानी बिजली कटौती से कुटीर उद्योगों में उत्पादन प्रभावित है। श्री अग्रवाल इस बात पर कन्नी काट गए कि बकायेदार व्यापारी आखिर बिल जमा क्यों नहीं करते। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट के पूर्व किसी व्यापारी को मिलावटखोर कहना गलत है। उन्होंने लोकसभा/राज्यसभा एवं विधानसभा/विधान परिषद में व्यापारियों को प्रतिनिधित्व देने की मांग दोहराई।

कहा कि सभी राजनीतिक दलों को चाहिए कि वह चुनाव में व्यापारियों को भी टिकट दे। उन्होंने बताया कि 1974 में संगठन का गठन बनारस में ही लाला विशंभर लाल ने किया था। बावजूद इसके पहली बार वाराणसी में 13वां अधिवेशन व चुनाव 26 व 27 दिसम्बर को नगर निगम प्रेक्षागृह में होगा। इसमें करीब 5 हजार प्रतिनिधि भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि महंगाई पर नियंत्रण के लिए वायदा कारोबार पर तत्काल रोक लगे। गरीब व्यापारियों को आसान किश्तों पर कर्ज दिया जाए। ऐसे व्यापारियों को प्रशिक्षण देकर शस्त्र लाइसेंस दिये जाएं जिन पर आपराधिक मुकदमे न हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ढाई हजार व्यापारियों पर दलित उत्पीड़न में फर्जी मुकदमे साधा निशाना उत्तर