DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेट पर मनमानी की होगी निगरानी

सोशल नेटवर्किग वेबसाइट पर देवी-देवताओं और राजनेताओं के आपत्तिजनक चित्रण से चिंतित सरकार अब इस तरह के मामलों से सख्ती से निपटने की तैयारी कर रही है। सरकार ने साफ कहा कि इंटरनेट पर मानवीय संवेदनाओं को आहत करने वाली किसी भी तरह की सामग्री स्वीकार्य नहीं है। अगर, गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियां सामग्री की स्वयं निगरानी कर नियमों का पालन नहीं करती हैं तो सरकार इस दिशा में कड़े कदम उठाएगी।

दूरसंचार व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल ने मंगलवार को यहां संवाददाताओं से कहा, ‘इंटरनेट कंपनियों को सुझाव दिया गया है कि वे स्वयं ऐसी प्रणाली विकसित करें, जिससे आपत्तिजनक सामग्री का पता चलते ही इसे तुरंत हटा दिया जाए।’ सिब्बल ने कहा कि इंटरनेट कंपनियों से गत सितंबर में आपत्तिजनक सामग्रियों के प्रबंधन का रास्ता निकालने को कहा गया था। मगर, कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला। उसके बाद नवंबर में सरकार ने आपत्तिजनक सूचना के प्रबंधन के लिए अचार संहिता का मसौदा तैयार किया। इस पर माइक्रोसाफ्ट, याहू, गूगल तथा फेसबुक के साथ भी चर्चा की गई। इन कंपनियों ने शुरू में इस पर सहमति जताई, लेकिन बाद में मसौदे पर लिखित जवाब में वे अपने रुख से पीछे हट गईं।

उधर, फेसबुक ने कहा है कि ऐसी नीतियां पहले से बनी हैं, जो लोगों को गलत सामग्री के संबंध में रिपोर्ट देने में सक्षम बनाती हैं। हम उस सामग्री को ही हटाएंगे, जो हमारी शर्तों का उल्लंघन करती हैं। गूगल इंडिया ने कहा कि वह सिर्फ इसलिए किसी सामग्री को नहीं हटाएगी, क्योंकि वह विवादास्पद है। विवादास्पद तथा गैर-कानूनी सामग्रियों के बीच भेद किए जाने की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेट पर मनमानी की होगी निगरानी