DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोहर्रम को देखते हुए आसाराम के कार्यक्रम की इजाजत नहीं

संत आसाराम बापू के आज कानपुर में होने वाले सत्संग कार्यक्रम को जिला प्रशासन से अनुमति न मिलने के कारण रद्द कर दिया गया है। जिला प्रशासन ने यह कहते हुये इस कार्यक्रम को अनुमति देने से इंकार कर दिया था कि आज मोहर्रम और छह दिसंबर की बरसी है इस लिये शहर का सारा प्रशासनिक और पुलिस अमला मोहर्रम के जुलूसों में व्यस्त रहेगा।

आशाराम बापू के कार्यक्रम के आयोजकों ने अब कार्यक्रम की नयी तिथियां निर्धारित करने की योजना बनाई है। गौरतलब है कि संत आसाराम बापू का शहर के बीचोंबीच स्थित फूलबाग मैदान में आज सत्संग होना था इसके लिये बाबा के समर्थकों और आयोजकों ने व्यापक इंतजाम किये थे तथा शहर में जगह-जगह बैनर और पोस्टर तथा स्वागत द्वार बनवाए थे। इस कार्यक्रम में कानपुर के आसपास के जिलों के भी हजारों लोगों के भाग लेने की संभावना थी।

वैसे जिला प्रशासन ने पहले ही इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी थी लेकिन आयोजक यह सोचकर इस कार्यक्रम की तैयारी करते रहे कि अंतिम मौके पर प्रशासन शायद अनुमति दे दे लेकिन प्रशासन ने अंत तक इस आयोजन पर कड़ा रूख अपनाये रखा।

एडीएम सिटी शैलेन्द्र कुमार सिंह के अनुसार छह दिसंबर को मोहर्रम, विवादित ढांचा गिराए जाने की बरसी और अंबेडकर निर्वाण दिवस भी है। मोहर्रम के जुलूस में हजारों की संख्या में श्रद्घालु शामिल होते हैं। ऐसी दशा में प्रशासन की पहली जिम्मेदारी इन जुलूसों को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने की है। अगर आसाराम का सत्संग होता तो वहां भी लोगो को नियंत्रित करने के लिये पुलिस और प्रशासनिक अमले की जरूरत होती जो उपलब्ध नही थी। इसलिये आयोजको से इस सत्संग की तिथि आगे बढ़ाने को कह दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोहर्रम को देखते हुए आसाराम के कार्यक्रम की इजाजत नहीं