DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भट्टे पर कैद हैं 14 मजदूर परिवार

बदायूं। हिन्दुस्तान संवाद। अलापुर थाना क्षेत्र एक ईंट भट्टे पर 14 मजदूर परिवार समेत बंधक है। जिनसे मारपीट करके ईंट पथाई कराई जाती है। भट्टा मालिक और उसके गुर्गे महिलाओं का यौन शोषण भी करते है। बंधुआ मजदूरी कराने का यह मामला लखनऊ के अफसरों के सामने गूंजा।

लखनऊ के ओदश पर हरकत में आई जिले की पुलिस ने मामले में पड़ताल शुरू कर दी है। एसएसपी नवनीत कुमार राणा ने मामला एसपी सिटी हवाले कर दिया है। अलापुर थाना क्षेत्र के म्याऊं स्थित एक भट्टा मालिक के खिलाफ ये गंभीर आरोप लगाए गए हैं। बताते हैं कि भट्टे पर छत्तीसगढ़ के जांजगिर और चांपा जिले के मजदूरों को बंधक बनाया गया है। बंधुआ मजदूरी का राज तब खुला जब पहरेदारों की निगाह से बचकर तीन मजदूर भट्टे से भाग आए।

छत्तीसगढ़ राज्य के जांजगिर जिले के अकलकरा थाना क्षेत्र के अर्जुनी गांव निवासी मुन्ना सूर्यवंशी पुत्र राम सूर्य, पीपर गांव निवासी जितेंद्र पुत्र रथुराज ने लखनऊ के अधिकारियों से संपर्क साधा। बताते है कि बंधुआ मजदूरी का मामला होने के कारण लखनऊ के अधिकारियों ने जिला पुलिस को फैक्स भेजकर आदेशित कर दिया। मजदूर मुन्ना सूर्यवंशी सोमवार को एसएसपी नवनीत कुमार राणा से मिला और आप बीती सुनाई। एसएसपी ने मामला एसपी सिटी परेश पांडेय के हवाले कर दिया है। एसपी सिटी ने मामले की पड़ताल शुरू कर दी है। महिलाओं सहित 30 बच्चों भी बंधकभट्टे पर 14 मजदूर परिवार समेत बंधक है। जिनसे मारपीट करके ईंट पथाई कराई जाती है। भट्टा मालिक और उसके गुर्गे महिलाओं का यौन शोषण भी करते है। बंधक मजदूरों में श्याम सुंदर, फिरत राम, गंगा प्रसाद, मनहरन राम, भगवत प्रसाद, जयपाल, मुन्ना लाल, इंदल, अशोक, शंकर, राम सिंह, जितेंद्र, भोले भंडारी और अलखराम शामिल है। इनके अलावा इन मजदूरों की पत्नियों और 30 बच्चों भट्टा मालिक की कैद में हैं।बंधुआ मजदूरी किसी भी कीमत पर नहीं होने दी जायेगी। एसपी सिटी को स्वयं पड़ताल करने को लगाया गया है। भट्टा मालिक कितना भी असरदार क्यों ने हो, उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।नवनीत कुमार राणावरिष्ठ पुलिस अधीक्षक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भट्टे पर कैद हैं 14 मजदूर परिवार