DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैसला टालने पर भी नहीं बन रही है बात

खुदरा एफडीआई पर सहयोगी दल तृणमूल के तगड़े विरोध के बाद फैसला बदलने पर मजबूर सरकार ने विपक्ष से संसद चलने देने का आग्रह किया है। सरकार बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाने पर विचार कर रही है। इस दिन कैबिनेट की भी बैठक होनी है जिसमें इस पर चर्चा हो सकती है।

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज और व माकपा के सीताराम येचुरी से बात की। बुधवार को पार्टी सांसदों को भी एफडीआई के पीछे सरकार की मंशा बताएंगे। सुषमा और येचुरी ने बताया कि सरकार ने फिलहाल उन्हें एफडीआई टालने की जानकारी दी है। दोनों ने मुखर्जी को यह साफ किया कि फैसला टालना पर्याप्त नहीं होगा, सरकार को इसे वापस लेना चाहिए।

हालांकि सरकार को बुधवार से संसद चलने की उम्मीद है, पर विपक्ष ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया है कि वह एफडीआई मसला छोड़ देगी। सुषमा ने इस बाबत मुखर्जी को सर्वदलीय बैठक बुलाने का सुझाव दिया है।

वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने मांग की है कि सरकार फैसला वापस ले, तभी बात बनेगी। यूपीए सूत्रों के मुताबिक, फैसले के पक्ष में माहौल बनाने में पिछड़े सरकार के रणनीतिकार रणनीति दुरस्त करने के लिए कुछ समय चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैसला टालने पर भी नहीं बन रही है बात