DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीला अपनी सरकार के अपराधों पर पर्दा डाल रही हैं

दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा ने कहा कि दिल्ली की मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित द्वारा समय-समय पर ताश के पत्तों की तरह अपने मंत्रियों के विभागों को पलटने से उनकी सरकार के अपराधों पर परदा नहीं डाला जा सकता।

प्रो. मलहोत्रा ने यहां एक बयान में कहा कि कैग रिपोर्ट, शुंगलू कमेटी, रिपोर्ट और लोकायुक्त द्वारा पूरी तरह से दोषी ठहराए जाने के बाद तो इस पूरी की पूरी सरकार का माल असबाब के साथ समापन होना चाहिए। उन्होंने मांग की कि अगर यह सरकार त्यागपत्र नहीं देती है तो लोकायुक्त को शीघ्र उस पर आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश देना चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि अब अनधिकृत बस्तियों को गलत और फर्जीवाडे से अस्थाई प्रमाण पत्र देने से हजारों करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार और घपला हुआ है। जिन बस्तियों का अस्तित्व ही नहीं था। वहां खाली जमीन को अनधिकृत बस्तियों का प्रमाण पत्र दे दिया गया। यह घोटाला कामनवेल्थ घोटाले, आदर्श सोसायटी घोटाले व टू जी स्कैम से कम नहीं है। केवल एक मंत्री का महकमा बदलने से इस पर परदा कैसे डाला जा सकता है।
 
प्रो. मलहोत्रा ने कहा कि अनधिकृत बस्तियों को जाली प्रमाण पत्र देने की असली दोषी तो श्रीमती सोनिया गांधी हैं जिन्होंने इन फर्जी प्रमाण पत्रों को बांटा और कम दोषी श्रीमती शीला दीक्षित भी नहीं है जिन्होंने श्रीमती सोनिया गांधी के हाथों यह प्रमाण पत्र बंटवाए। इस भीषण फर्जीवाडे के अतिरिक्त अब तीन वर्ष के बाद भी एक भी बस्ती का नियमीकरण ना होना कम धोखा धडी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शीला अपनी सरकार के अपराधों पर पर्दा डाल रही हैं