DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो पहिया वाहन कंपनियों को अच्छी बिक्री की उम्मीद

वाहन बाजार में नरमी के बावजूद दो पहिया वाहन बनाने वाली इंडिया यामहा तथा बजाज आटो ने चालू वित्त वर्ष में मजबूत प्रदर्शन का लक्ष्य रखा है। दोनों कंपनियां नवंबर में अच्छी बिक्री से उत्साहित हैं।

जहां जापानी दो पहिया कंपनी इंडिया यामाहा ने इस साल 4.80 लाख वाहन बेचने का लक्ष्य रखा है वहीं प्रतिद्वंद्वी बजाज आटो को चालू वित्त वर्ष में 40 लाख इकाई बेचने की उम्मीद है।

इंडिया यामहा मोटर के निदेशक (बिक्री तथा विपणन) जून नकाता ने कहा कि कंपनी ने इस साल 4.80 लाख वाहन बेचने की योजना बनायी है और उसका लक्ष्य अगले कुछ साल में 10 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल करना है।

नवंबर में इंडिया यामाहा की बिक्री 29.20 प्रतिशत बढ़कर 39,162 इकाई रही। कंपनी ने पिछले वर्ष इसी महीने में 30,310 वाहन बेचे थे। घरेलू बाजार में कंपनी की बिक्री नवंबर महीने में 24.08 प्रतिशत बढ़कर 28,178 इकाई रही जो इससे पूर्व वर्ष 2010 के इसी महीने में 22,710 इकाई थी।

वाहन बाजार में नरमी की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर नकाता ने कहा कि कंपनी पर इसका कोई खास प्रभावा नहीं पड़ा है। उन्होंने कहा, हम अब तक इससे नहीं के बराबर प्रभावित हुए हैं। हम उद्योग में 15 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं।

वाहन विश्लेषकों का कहना है कि ईंधन की कीमत में तेजी तथा ब्याज दर में वृद्धि के कारण कई लोग कार की बजाए दो पहिया वाहन खरीद रहे हैं। बजाज आटो के महा प्रबंधक (विपणन तथा बिक्री) चंद्रशेखर ने कहा कि कंपनी को चालू वित्त वर्ष में 40 लाख से अधिक वाहन बेचने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि ब्याज दर में वृद्धि तथा ईंधन लागत बढ़ने जैसे कई कारणों से कार के कारोबार पर असर पड़ रहा है। ऐसे में ग्राहकों के लिये दो-पहिया वाहन एक बेहतर विकल्प है। चंद्रशेखर ने कहा कि दो पहिया उद्योग सालाना आधार पर 13 से 15 प्रतिशत वृद्धि कर रहा है।

नवंबर महीने में बजाज आटो ने 3,31,967 मोटरसाइकिल बेचे जो पिछले पिछले वर्ष 2010 के इसी महीने के मुकाबले 25 प्रतिशत अधिक है। कंपनी के कुल वाहनों की बिक्री नवंबर महीने में 25 प्रतिशत बढ़कर 3,74,477 इकाई रही जो इससे पूर्व वर्ष के इसी महीने में 2,99,231 इकाई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो पहिया वाहन कंपनियों को अच्छी बिक्री की उम्मीद