DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत लगातार दूसरी वनडे सीरीज जीतने की राह पर

पहले दो मैचों में जीत के साथ 2-0 की बढ़त बनाने के बाद भारत सोमवार को मोटेरा के सरदार पटेल गुजरात स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले पांच मैचों की सीरीज के तीसरे वनडे में भी जीत के साथ लगातार दूसरी वनडे सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगा।

पहले दो मैचों में हालांकि भारत की राह आसान नहीं रही लेकिन टीम उस मैदान पर 3-0 की बढ़त के साथ सीरीज अपने नाम करने को तैयार है जहां इसी साल 24 मार्च को उसने लगातार तीन बार के गत चैम्पियन आस्ट्रेलिया को 24 मार्च को हराने के बाद विश्व खिताब तक का सफर तय किया था।

भारत खिलाड़ी अगर उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करते हैं तो इंग्लैंड पर 5-0 की जीत के बाद कल भी उनका श्रंखला जीतना लगभग तय है। वेस्टइंडीज को अगर भारत को सीरीज जीतने से रोकना है तो उसे अपनी क्षमता से बढ़कर प्रदर्शन करना होगा।

वेस्टइंडीज ने हालांकि कटक में मेजबान टीम की एक विकेट और विशाखापत्तनम में पांच विकेट की जीत के दौरान वीरेंद्र सहवाग की अगुआई वाली टीम को काफी परेशान किया था। भारत को पहले वनडे में 212 रन के लक्ष्य को हासिल करने में काफी परेशानी हुई। अंतत: वरुण आरोन और उमेश यादव की अंतिम जोड़ी ने 12 रन जोड़कर टीम को जीत दिलाई जबकि दूसरे वनडे में 170 रन पर नौ विकेट गंवाने के बावजूद डेरेन सैमी की टीम ने मेजबान टीम को 270 रन का लक्ष्य देने में सफलता पाई। दसवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए रवि रामपाल ने 66 गेंद में छह छक्कों और इतने ही चौकों की मदद से रिकार्ड नाबाद 86 रन की पारी खेली और केमार रोच (नाबाद 24) के साथ अंतिम विकेट के लिए नाबाद 99 रन की साझेदारी की।

भारत ने इसके बाद 84 रन पर तीन विकेट गंवाने के बाद विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच चौथे विकेट की 163 रन की साझेदारी की मदद से जीत हासिल की। पहले दो मैचों में हालांकि टीम के दो अनुभवी बल्लेबाज कप्तान वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर नाकाम रहे हैं जबकि सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभा रहे विकेटकीपर पार्थिव पटेल भी उपयोगी योगदान नहीं दे पाए।

इंग्लैंड में हुई वनडे सीरीज में अपनी पहली ही गेंद में चोटिल होने बाद इस सीरीज के साथ वापसी करने वाले रोहित अच्छी फार्म में हैं जबकि दो अप्रैल को मुंबई में विश्व कप जीतने वाली महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई वाली टीम के सदस्य कोहली ने इस साल वनडे क्रिकेट में खूब रन बटोरे हैं। दिल्ली का यह बल्लेबाज इस साल इंग्लैंड के जोनाथन ट्राट के बाद सबसे अधिक रन बनाने वाला बल्लेबाज है। उन्होंने 31 मैचों में चार शतक की मदद से 1258 रन बनाए हैं।

सचिन तेंदुलकर, नियमित कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और युवराज सिंह जैसे अनुभवी बल्लेबाजों की गैरमौजूदगी में मध्यक्रम का पूरा दारोमदार फिलहाल युवा रोहित और कोहली के कंधों पर है। टीम को हालांकि सहवाग और गंभीर के जल्द से जल्द फार्म में वापसी करने की उम्मीद होगी। एक अन्य युवा बल्लेबाज सुरेश रैना भी पहले दो मैचों में पांच और शून्य के स्कोर के साथ विफल रहे जिससे टीम इंडिया की मुश्किलें कुछ बढ़ी हैं।

गेंदबाजी की बात करें तो कटक में वेस्टइंडीज पर अंकुश लगाने में सफल रहने के बाद टीम ने विशाखपत्तन में काफी रन लुटाए। वरुण आरोन और आर अश्विन ने तो क्रमश: 66 और 74 रन खर्च कर डाले। इन दोनों को अब कल होने वाले वनडे में पिछले प्रदर्शन को भुलाकर वापसी करनी होगी जबकि टीम प्रबंधन के पास आरोन की जगह अभिमन्यु मिथुन को खिलाने का विकल्प भी होगा।

टेस्ट मैचों में दमदार प्रदर्शन करने वाले उमेश यादव ने वनडे में भी अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा है। उन्होंने पहले दो मैचों में किफायती गेंदबाजी करने के अलावा पांच विकेट हासिल किये हैं जबकि तेज गेंदबाज विनयकुमार और बाएं हाथ के स्पिनर रविंद्र जडेजा भी बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने में सफल रहे हैं।

दूसरी तरफ, वेस्टइंडीज के अधिकांश बल्लेबाज विफल रहे हैं। टीम का शीर्ष क्रम एकजुट होकर खेलने में विफल रहा है। सीनियर बल्लेबाज मार्लन सैमुअल्स ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए दो पारियों में केवल 14 रन जुटाए हैं जबकि कटक में 60 रन की पारी खेलने वाले डेरेन ब्रावो दूसरे वनडे में सस्ते में पवेलियन लौट गये। लेंडल सिमन्स ने दूसरे वनडे में 78 रन की पारी खेली लेकिन अन्य बल्लेबाज विफल रहे जिसके बाद रामपाल ने आतिशी पारी खेलकर टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया। कप्तान सैमी कटक में शून्य पर पवेलियन लौटे जबकि दूसरे वनडे में उन्होंने सिर्फ दो रन बनाए।

वेस्टइंडीज की ओर से विशाखापत्तनम में रामपाल ने लय में गेंदबाजी की जबकि रोच ने दोनों मैचों में प्रभावित किया लेकिन अन्य गेंदबाज भारत के बल्लेबाजी क्रम पर प्रभाव छोड़ने में विफल रहे। अहमदाबाद में रात के तापमान में गिरावट की संभावना है लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो सीरीज के तीसरे मैच में ओस बड़ी भूमिका नहीं निभाएगी।
टीमें इस प्रकार हैं-
भारत:
वीरेंद्र सहवाग (कप्तान), गौतम गंभीर, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा, पार्थिव पटेल, आर अश्विन, अभिमन्यु मिथुन, आर विनय कुमार, उमेश यादव, वरुण आरोन, रोहित शर्मा, मनोज तिवारी और राहुल शर्मा।

वेस्टइंडीज:
डेरेन सैमी (कप्तान), लेंडल सिमंस, एड्रियन बराथ, डेंजा हयात, मार्लन सैमुअल्स, डेरेन ब्रावो, दिनेश रामदीन, कीरोन पोलार्ड, आंद्रे रसेल, एंथोनी मार्टिन, जासन मोहम्मद, सुनील नरेन, कीरोन पावेल, रवि रामपाल और केमार रोच।
मैदानी अंपायर: टोनी हिल, शावीर तारापोर
तीसरा अंपायर: सुधीर असनानी
मैच रैफरी: डेविड बून
समय: दोपहर ढाई बजे से।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत लगातार दूसरी वनडे सीरीज जीतने की राह पर