DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिल वितरण कर्मियों की लापरवाही

 गाजियाबाद। वरिष्ठ संवाददाता। शहर में हर महीने लगभग 50 हजार उपभोक्ताओं को बिजली का बिल नहीं मिल पाता है। बिल बनाने और वितरण करने वाले कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से हर महीने 10 फीसदी उपभोक्ता समय से बिल नहीं जमा कर पाते हैं। इस कारण पेनाल्टी के साथ बिल जमा करना पड़ता है। पावर कॉरपोरेशन ने बिल बनाने वालों को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। गौरतलब है कि पावर कॉरपोरेशन ने बिल बनाने, वितरण करने और उपभोक्ता से चेक लाने का काम एक निजी कंपनी को सौंप रखा है। कंपनी के कर्मचारियों का काम घर-घर जाकर बिल बनाने का है। आरोप है कि ये कर्मचारी सभी उपभोक्ताओं के घर नहीं जाते हैं। गाजियाबाद में समय से बिजली के बिल न मिलने की शिकायत आम हो गई है। तमाम उपभोक्ताओं को साल भर में छह से आठ बार की समय से बिल मिल पाता है। कई बार बिल देय तिथि के बाद लोगों के घर पहुंचता है। बिल न पहुंचने की वजह से तमाम उपभोक्ता समय से बिल नहीं जमा कर पाते हैं। उपभोक्ताओं की शिकायतों के बाद पावर कारपोरेशन ने बिल बनाने वाले कर्मियों के खिलाफ सख्त रुख अपना लिया है। उसने निजी कंपनी के कर्मचारियों को हिदायत दी है कि सभी उपभोक्ताओं को समय से बिल दिया जाए अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी। शहर और ट्रांस हिंडन मिलाकर हर माह शिकायतें आती हैं 50 हजार के करीब गाजियाबाद में कुल बिलिंग सेंटर 21रोजाना बिल न आने की शिकायत लेकर एक सेंटर में आते हैं उपभोक्ता100 के करीब औसतन आफिस खुलता है 24 दिन 10 फीसदी यानी 5 हजार के करीब उपभोक्ता भरते हैं पेनाल्टी300 रुपये भरनी पड़ती है पेनाल्टी महीने में 2400 शिकायतें एक सेंटर में बिल न आने की आती हैं(आंकड़े बिलिंग काउंटर पर बैठने वाले कर्मचारी और कारपोरेशन के एकाउंटेंट से बातचीत पर आधारित)क्या हैं शिकायत- बिल बनाने वाले कर्मचारी कुछ बिल बनाने के बाद बचे उपभोक्ताओं के बिल बिना मीटर जाचें ही बना देते हैं। शाम को आफिस आकर उपभोक्ताओं की संख्या दर्ज करा देते हैं। सख्त हिदायत दी गईबिल न मिलने की शिकायत इस दौरान अधिक मिल रही है। इसे ध्यान में रखते हुए ट्रांस हिंडन में बिल बनाने वाले कर्मचारियों की क्लास ली गई और उन्हें हिदायत दी गई कि प्रत्येक उपभोक्ता के घर जाकर बिल दिया जाए। बिल न मिलने की शिकायत मिलने पर कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। महेश कुमार उपाध्यायअधिशासी अभियंताट्रांस हिंडन निगम और उपभोक्ता दोनों परेशान उपभोक्ताओं की बिल न मिलने से निगम और उपभोक्ता दोनों परेशान हैं। समय से बिल न मिलने की वजह से उपभोक्ता बिल नहीं जमा कर पाते हैं इस वजह से कॉरपोरेशन को राजस्व का नुकसान हो रहा है। बिल बनाने वाली कंपनी को हिदायत दे दी गई है। एपी मिश्रामुख्य अभियंता गाजियाबाद जोन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिल वितरण कर्मियों की लापरवाही