DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घरेलू कलह ने ली कांस्टेलब की जान

 गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता। कविनगर थाने की शास्त्री नगर चौकी पर तैनात कांस्टेबल ने घरेलू कलह के चलते खुदकुशी कर ली। मौके से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है। जांच में वह फर्जी निकला। पुलिस मामले की जांच कर रही है।मूल रूप से कठवारी, आगरा निवासी वेद प्रकाश सिंह (36) पत्नी पुष्पा देवी (34), बेटा शिवम (11) और बेटी एकता (08) के साथ एन-576, संजय नगर में रह रहे थे। 94 बैच के कांस्टेबल वेद प्रकाश शास्त्री नगर चौकी में तैनात थे। पुलिस ने बताया कि कई दिनों से वेद प्रकाश और पुष्पा देवी में घरेलू वजहों को लेकर झगड़ा होता था। शुक्रवार रात साढ़े आठ बजे वेद प्रकाश डय़ूटी से लौटे तो फिर दोनों में झगड़ा शुरू हो गया। रात एक बजे वेद प्रकाश अपने कमरे में सोने चला गया और पत्नी बच्चों के साथ दूसरे कमरे में।

शनिवार सुबह करीब सात बजे शिवम सो कर उठा तो उसने दूसरे कमरे में देखा कि उसके पिता पंखे से लटके हुए हैं। उसने मां को सूचना दी। पुष्पा ने किसी तरह शव को नीचे उतारा। वेद प्रकाश जिस रस्सी के सहारे पंखे से लटका था वह रस्सी उसकी गाड़ी की डिग्गी में रखी होती थी। डीएसपी डॉ. प्रवीण रंजन सिंह ने बताया कि मौके से जो सुसाइड नोट मिला है, वह फर्जी है। सुसाइड नोट की लिखावट वेद प्रकाश की लिखावट से नहीं मिलती है। प्रथमदृष्टया यह यह खुदकुशी का मामला लग रहा है। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। ज्ञात हो कि इससे पहले 17 नवंबर को मसूरी थाने में तैनात कांस्टेबल विनोद यादव ने गोली मार कर जान दे दी थी।--------------मैं अपने मौत का खुद जिम्मेदार हूं, इसके लिए किसी और को परेशान न किया जाए।

-सुसाइड नोट-----------------

रिश्ते खराब न होते तो बच जाती इनकी जानेंपायलट की पत्नी ने की खुदकुशीवसुंधरा सेक्टर-6 स्थित आदित्य गार्डन के फ्लैट नं-703 बी निवासी पायलट दीपचंद की पत्नी काजल (30) ने एक नवंबर को पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस जांच में पता चला कि काजल व दीपचंद में हमेशा तकरार रहती थी। थोड़ी-थोड़ी बातें इस कदर बढ़ गईं कि काजल ने मौत को गले लगा लिया।

----इंजीनियर के अवैध रिश्ते बने पत्नी-बेटियों की मौत वजहकविनगर थाना अंतर्गत जे-401, सेक्टर-23 निवासी राकेश उपाध्याय स्टील कंपनी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं। मुरादाबाद के रहने वाले राकेश कई वर्षो से पत्नी सुनीता देवी (46), दो बेटी प्रीति (24) और प्रेरणा (18) के साथ संजय नगर में रह रहे थे। राकेश का उनकी पड़ाेस में रहने वाली महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था। यह बात जब उनकी पत्नी को पता चली तो घर में कलह शुरू हो गई। गत आठ नवंबर को उन्होंने पत्नी और बेटियों को छोड़ने तक की धमकी दे डाली थी। यही बात उन्हें चुभ गई और सुनीता ने दोनों बेटियों के साथ जहर खा कर जान दे दी।-

-------------ससुराल जाने से मना किया तो की खुदकुशीविजयनगर निवासी रानी (26) पत्नी रवि मोहन ने मात्र इस वजह से पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली, क्योंकि उसके पति ने उसे मायके जाने से मना कर दिया था। दोनों में विवाद हुआ और उसने दो नवंबर को खुदकुशी कर ली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घरेलू कलह ने ली कांस्टेलब की जान