DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साइकिल उद्योग के बहाने केन्द्र पर साधा निशाना

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता। भाजपा सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि हम तो साइकिल उद्योग का भला चाहते हैं पर केन्द्र सरकार नहीं चाहती। केन्द्र सरकार के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की मंजूरी से खुदरा बाजार ही नहीं साइकिल उद्योग भी बर्बाद हो जाएगा।

वह टाउनहाल में शनिवार से शुरू दो दिवसीय 10वें साइकिल ट्रेड फेयर (पूर्वाचल) के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि थे। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए डॉ. जोशी ने कहा कि वॉलमार्ट जैसी विदेशी कंपनियों को कारोबार की छूट देने वाली केन्द्र सरकार पर राहुल को गुस्सा आए या ना आए पर आपको (निर्माताओं-विक्रेताओं) को आना चाहिए। अब भी आप सचेत नहीं हुए तो विदेशी कंपनियां साइकिल उद्योग को निगल जाएंगी। वैसे भी प्रतिस्पर्धा में साइकिल कारोबार में मुनाफा कम है।

एफडीआई मुद्दे पर पीएम संसद में बहस को तैयार नहीं। विश्व में हिन्दुस्तान के अलावा कोई बड़ा बाजार नहीं है। यहां का कारोबार 400 मिलीयन डॉलर का है। आने वाले दिनों में 800-900 तक पहुंच जाएगा। इस पर विदेशी कंपनियों की नजर है। हिन्दुस्तान का जितना कारोबार है उतना वालमार्ट का टर्नओवर है। बावजूद इसके न्यूयार्क में वालमार्ट का शोरूम नहीं है। उन्होंने कहा कि महंगाई का मुद्दा संसद में उठाया तो सरकार ने कहा कि इसे रोकने की कोई जादुई छड़ी नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास छड़ी भले न हो, जनता के पास है। आगामी चुनाव में जनता यह छड़ी जरुर घुमाएगी। उन्होंने निर्माताओं, विक्रेताओं एवं जनता से संकल्प लिया। चाइना से टक्कर के लिए उद्यमियों से नये प्रयोग करने का अनुरोध किया। तत्पश्चात उन्होंने फीता काटकर फेयर का उद्घाटन किया।

अंशवीर सिंह नीदर ने साइकिल उद्योग की बर्बादी के लिए सरकारी नीतियों को जिम्मेदार ठहराया। अध्यक्षता सुभाष पिपलानी, संचालन प्रतिभा सिन्हा व विनोद कालरा ने किया। समारोह में राजेन्द्र जिंदल, प्रेमप्रकाश कपूर आदि थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साइकिल उद्योग के बहाने केन्द्र पर साधा निशाना