DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक कॉमरेड की आपबीती

प्रस्तुत पुस्तक मशहूर ट्रेड यूनियन नेता गंगाधर चिटणीस की आत्मकथा का हिन्दी अनुवाद है। 1950-60 के दशक में दुनिया भर में चल रही वाम लहर के दौरान भारतीय वामदलों में भी खासी हलचल थी और इसी दौरान अनेक दिग्गज वामपंथी नेताओं की आवाज राष्ट्रीय स्तर पर गूंजती सुनाई देती थी। गंगाधर चिटणीस ने उस समय बंबई ट्रेड कामगार यूनियन और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी में आने वाले अनेक उतार-चढ़ावों को देखा और उनसे दो-चार हुए थे। उन्होंने अपने अनुभव, वाम मोर्चे के आंतरिक विरोधाभासों, कुछ मशहूर हड़तालों की सफलता-असफलता, निजी पीड़ाओं और वामधारा के सच को बहुत साफगोई से यहां दर्ज किया है।
मंजिल अब भी दूर, लेखक: गंगाधर चिटणीस, अनुवाद: दिलीप जोशी, प्रकाशक: राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली-2, मूल्य: 250 रु.

दिल्ली की बातें
खुशवंत सिंह एक ओर यदि अपने धीर-गंभीर लेखन के लिए जाने जाते हैं तो दूसरी ओर उनकी लेखनी के चुटीले और रसीले पक्ष से भी उनके पाठक वाकिफ हैं। उनके कई उपन्यासों में किस्सों की दिलचस्प बयानी लगभग मिथकीय स्वरूप ले चुकी है। प्रस्तुत उपन्यास में भी उनके कुछ ऐसे ही हंसी-मजाक और दिल्ली के जनजीवन का सजीव चित्रण नजर आता है। सनसेट क्लब में कुछ वृद्ध पात्रों को केंद्र में रख कर लेखक ने कथा का ताना-बाना बुना है और इस श्रृंखला में दिल्ली से जुड़े अनेकानेक रोचक तथ्य बहुत खूबसूरती से कथानक में आ मिलते हैं। सनसेट क्लब खुशवंत सिंह की चिर-परिचित लेखनशैली से सजी-धजी रचना है।
सनसेट क्लब, लेखक: खुशवंत सिंह, अनुवाद: महेंद्र कुलश्रेष्ठ, प्रकाशक: राजपाल एंड संस, दिल्ली-6, मूल्य: 150 रु.

गुजराती कहानी संग्रह
स्वर्गीय कमलेश्वर के संपादन में गुजराती साहित्य की चुनिंदा कहानियों का यह संग्रह वृहद गुजराती समाज की तस्वीर पेश करता है। संग्रह में कमलेश्वर द्वारा लिखित भूमिका में गुजराती साहित्य के इतिहास पर भी दृष्टि डाली गई है, जिसमें उन्होंने गत दो सदियों से भी अधिक समय से चली आ रही समृद्ध गुजराती दर्शन एवं गल्प की परंपरा के बारे में बुनियादी जानकारी दी है। कई जाने-माने गुजराती कहानीकारों को पुस्तक में स्थान दिया गया है, जिनमें पन्नालाल पटेल, आबिद सुरती, जयंती दलाल आदि प्रमुख हैं। कहानियां पारंपरिक और नए पैराए की हैं और अपने-अपने तरीके से आज के सच का जायजा लेती हैं।
गुजराती की चुनी हुई कहानियां, संपादन : कमलेश्वर, प्रकाशक: राजपाल एंड संस, दिल्ली-6, मूल्य : 350 रु.

बाइबल की रोचक कथाएं
विश्व के महान ग्रंथों में से एक बाइबल से ली गई यह कहानियां बहुत ही अनोखे तरीके से विशेषकर बच्चों के लिए तैयार की गई हैं। इस पुस्तक में कुछ विश्व प्रसिद्ध पात्रों के बारे में मशहूर कहानियों को सचित्र बताने का प्रयास किया गया है। वहीं दूसरी ओर कहानियों में से कई बाइबल की अंतर्कथाओं में से भी ली गई हैं, जिनके पात्र तो जाने-माने हैं, लेकिन उनके बारे में जानकारी आमतौर पर कम पढ़ने या जानने को मिलती है। इन पात्रों में डेविड और गोलियत, नूह, सुलेमान राजा प्रमुख हैं। स्वयं प्रभु यीशु के जीवन की बातों को नैतिक मूल्यों की रोशनी में पढ़कर बच्चे और बड़े पाठक आनंद उठा सकते हैं।
बाइबल की कहानियां, प्रकाशक: डायमंड बुक्स, ओखला फेज 2, नई दिल्ली-20,
मूल्य: 150 रु. संदीप जोशी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक कॉमरेड की आपबीती