DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुकानें बंद कर भागे दुकानदार

धमाका इतनी तेज था कि लोगों ने समझा गैस सिलेंडर फट गया। फिर क्या था सड़क किनारे लगी दुकानों पर खड़े ग्राहक तो भागे ही, दुकानदार भी बिना दुकानें बंद किए भाग निकले। पल भर में सड़क सूनी हो गई और दोनों ओर करीब पचास मीटर दूर तक वाहनों का जमघट लग गया। विस्फोट की आवाज सुनने और दूसरों से जानने के बाद कोई भी आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। इसी बीच सूचना पाकर जार्ज टाउन पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस घटनास्थल के निरीक्षण के बाद फटे हुए ड्रम को चौकी उठा ले गई। इसके बाद दहशत कुछ कम हुई तो सड़क पर लोगों का आवागमन शुरू हुआ। दुकानदार भी लौटे मगर दुकानें बंद करके चले गए। देर रात तक विस्फोट को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं होती रहीं।


धमाके की बात सुन बिलख पड़ी अनीता
इलाहाबाद। नन्हेलाल की पत्नी अनीता को जैसे ही विस्फोट में पति के जख्मी होने की सूचना मिलते पर घबरा गई। वह दो बेटों व एक बेटी और घर की चिंता छोड़ बदहवास सी अस्पताल की और दौड़ पड़ी। अस्पताल में अनीता के साथ ही बड़ा बेटा अनमोल बार-बार पिता को देखने की जिद कर रहा था मगर डॉक्टरों ने उन्हें ड्रेसिंग रूम में जाने नहीं दिया। नन्हेलाल तीन भाइयों में छोटा है। उसके बड़े भाई अस्पताल पहुंचकर अनीता और बच्चाों को ढांढस बंधा रहे थे मगर अपने आंसू नहीं रोक पा रहे थे। डॉक्टरों ने सिर्फ इतना बताया कि दाहिने पैर ही हालत ठीक नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुकानें बंद कर भागे दुकानदार