DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खादी भंडारों के सामने चरखा कात किया सत्याग्रह

खादी मिशन हरियाणा के आहवान पर शनिवार को हरियाणा में सभी खादी ग्रामोद्योग संस्थाओं ने खादी भंडारों को बंद रखकर उनके सामने शनिवार को चरखा कात कर आंदोलन किया। खादी मिशन ने यह आंदोलन खादी ग्रामोद्योग संस्थाओं को सभी प्रकार से कर्जों से मुक्ति दिलाने तथा आयोग के अव्यवहारिक पत्रों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर किया।

हिसार जिलें में इस प्रदर्शन में सभी खादी ग्रामोद्योग संस्थाओं ने चरखा कात आंदोलन में भाग लिया। इस मौके पर खादी मिशन के नेता संजय गोदारा ने कहा कि खादी ग्रामोद्योग कार्यक्रम में इस समय लाखों कारीगर आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं जिससे खादी ग्रामोद्योग के अंतर्गत पांच हजार से अधिक संस्थाओं के बंद होने का खतरा पैदा हो गया है।

ये संस्थाएं कर्ज से तीन गुणा अधिक ब्याज दे चुकी हैं और अब उनके पास तरल पूंजी खत्म हो गई है। उन्होंने कहा कि संस्थाओं को जो बैंक ऋण दिया गया है उस पर भी तीन गुणा से अधिक ब्याज दिया जा चुका है। बैंकों ने इन संस्थाओं को पात्रता राशि प्रदान की है जिससे खादी कार्यक्रम पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है और रोजगार में भी गिरावट आई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खादी भंडारों के सामने चरखा कात किया सत्याग्रह