DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुदरा क्षेत्र में FDI पर भाजपा ने लिया यू-टर्न: शर्मा

खुदरा क्षेत्र में एफडीआई पर भारतीय जनता पार्टी पर पलटी खाने का आरोप लगाते हुए वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने शनिवार को कहा कि किन राज्यों ने खुदरा क्षेत्र को एफडीआई के लिए खोलने का समर्थन किया है, सरकार संसद के रिकार्ड से इसकी जानकारी सामने रखेगी।
   
हरियाणा से आए किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद शर्मा ने बताया कि संसद में बहस शुरू होने दें। जब सांसद यह प्रश्न पूछेंगे तो हम रिकार्ड उनके सामने रख देंग़े़, भाजपा ने इस मुद्दे पर पलटी मारी है। शर्मा ने कहा कि हमारे पास राज्यों का पत्र है। ये पत्र उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के पास हैं। ये पत्र संसद की स्थायी समिति के पास हैं। संसद यह जान जाएगी कि हमारे पास कौन से दस्तावेज हैं। हम इसे सांसदों के सामने रखेंगे।
   
भाजपा के उपाध्यक्ष शांता कुमार ने इन आरोपों का खंडन किया है कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश बहु़-ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई के पक्ष में थे जहां छोटी किराना दुकानों का वर्चस्व है। कुमार ने शुक्रवार को कहा कि यह गलत धारणा फैलाने का प्रयास किया गया कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश ने बहु-ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई का समर्थन किया है। मैंने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की और उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है।
   
शर्मा ने कहा कि जहां केन्द्र राज्यों के अधिकार का सम्मान करता है जो खुदरा क्षेत्र में एफडीआई नहीं चाहते, लेकिन वे उन राज्यों को इससे वंचित नहीं कर सकते जो राज्य इसे चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह अप्रत्याशित है कि कार्यकारी निर्णयों पर सवाल उठाए जा रहे हैं।  हम एक संवैधानिक लोकतंत्र हैं और ऐसा नहीं होना चाहिए। हमने इसे परामर्श के बाद किया है़। हम इस पर आम सहमति बनाने का प्रयास कर रहे हैं।
   
मंत्री ने कहा कि किसानों ने इसका स्वागत किया है और वे चाहते हैं कि सरकार अपने रुख पर कायम रहें क्योंकि उन्हें लगता है कि यह उनके हित में हैं। उन्होंने कहा कि किसानों ने डीजल की उंची लागत और उर्वरक से जुड़ी समस्याओं को उठाया और प्रधानमंत्री को इन मुद्दों से अवगत कराया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खुदरा क्षेत्र में FDI पर भाजपा ने लिया यू-टर्न: शर्मा