DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोपाल गैस पीड़ितो ने रोकी रेल, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हुई गैस त्रासदी की 27वीं बरसी पर रेल चक्का जाम कर रहे पीड़ितों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई से नाराज आंदोलनकारियों ने कई वाहनों में आग लगा दी और जमकर तोड़फोड़ की।

हादसे की बरसी पर गैस पीडितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले संगठनों ने अपनी-अपनी तरह से विरोध दर्ज कराने का ऐलान किया था। पांच संगठनों डाओ-कार्बाइड के खिलाफ बच्चों, भोपाल गैस पीड़ित महिला स्टेशनरी कर्मचारी संघ, भोपाल गैस पीड़ित महिला पुरुष संघर्ष मोर्चा, भोपाल गैस पीड़ित निराश्रित पेंशन भोगी संघर्ष मोर्चा, भोपाल ग्रुप फॉर इंफॉर्मेशन एण्ड एक्शन ने तीन दिसम्बर से बेमियादी रेल रोको आंदोलन का आहवान किया था।

इसी के तहत एशबाग स्टेडियम के पास स्थित रेलवे क्रासिंग पर सुबह गैस पीड़ित रेल लाइन पर लेट गए। उन्होंने एक मालगाड़ी को रोक दिया। लगभग दो घंटे तक मालगाड़ी रुके रहने के बाद पुलिस ने आंदोलनकारियों पर हल्का बल प्रयोग किया। इस पर आंदोलनकारी भड़क उठे।
 
आंदोलनकारियों ने पथराव करने के साथ ही तोड़फोड़ शुरू कर दी और वाहनों में आग लगा दी। कई वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। जिन वाहनों मे आग लगाई गई है, उन्हें बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाडियां मौके पर पहुंच गई हैं। आंदोलन के उग्र होने पर दिल्ली-नागपुर मार्ग पर चलने वाली कई रेलगाड़ियों को भोपाल से पहले ही विभिन्न स्थानों पर रोक दिया गया।

ठीक 27 वर्ष पहले दो-तीन दिसम्बर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड से जहरीली गैस रिसी थी। काल बनकर आई गैस ने हजारों लोगों को लील लिया था और लाखों लोगों को तिल तिल कर मरने के लिए छोड़ दिया था।  सरकारों ने वादे तो किए मगर पीड़ितो के हाथ ज्यादा कुछ नही आया। उनमें आज भी गुस्सा है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भोपाल गैस पीड़ितो ने रोकी रेल, पुलिस ने किया लाठीचार्ज