DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस का धंधा जारों पर

सोनीपत और हिसार है प्रमुख शहर

सड़क दुर्घटना के मामलों की सुनवाई के दौरान पता चला है कि हरियाणा के सोनीपत और हिसार शहर में फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। फर्जी लाइसेंस का हर दूसरा मामला इन्हीं शहरों का पाया गया है।

बस और ट्रक चलाए जा रहे हैं फर्जी लाइसेंस पर
दिल्ली में सड़क दुर्घटनाएं बस और ट्रक चालकों की लापरवाही के कारण अधिक होती हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि अदालती आकंड़ों के अनुसार सभी फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बस व ट्रक चालकों के ही पाए गए हैं। चूंकि छोटा वाहन चालक सुरक्षा नियमों को लेकर अधिक सतर्क है।
 
फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस के आधार पर हुई दुर्घटनाए
पिछले छह महीने में दुर्घटना में हुए घायल: 27
इन दुर्घटनाओं में हुई मौतें : 42

अदालतों में बढ़ रहा बोझ
फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस लेकर वाहन चलाने वालों की गलती की वजह से न सिर्फ सड़क हादसे बढ़ रहे हैं, बल्कि अदालतों में ऐसे मुकदमों का बोझ भी बढ़ता जा रहा है। क्योंकि फर्जी लाइसेंस लेकर दुर्घटना करने वाले चालकों की गलती का खामियाजा बीमा कंपनी उठाने से इं्रकार कर देती है और इसकी वजह से मुआवजा अदायगी की जिम्मेदारी डाले जाने को लेकर संशय की स्थिति बन जाती है। इस कारण मुकदमे बढ़ते रहते हैं और निपटारा संभव नहीं हो पाता।

कसाब का भी मथुरा के पते पर बना था फर्जी लाइसेंस
26/11 के मुंबई हमलों के लिए दोषी ठहराए गए आमिर अजमल कसाब का फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस भी मथुरा के पते पर बना था। हालांकि उसके बाद मथुरा अथॉरिटी की तमाम फाइलें सीबीआई ने जब्त कर ली थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस का धंधा जारों पर