DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हंसने के लिए रहें तैयार

इधर के कुछ दिनों में हास्य कार्यक्रम बहुत ही लोकप्रिय हो गए हैं। कॉमिक शो में लोगों की बढ़ती भीड़ इसका बेहतर उदहारण है। गुडगांव के लोगों के बीच हंसी के फुहारे छोड़ने के लिए दिल्ली और मुम्बई के हास्य कलाकारों ने कमर कस ली है। अपने आप में अनूठा कोस्टा लौफेसिनो फेस्टिवल एक ऐसा हास्योत्सव है, जिसमें ये हास्य कलाकार आपको हंसी से सराबोर कर देंगे।

26 नवंबर से 17 दिसंबर के दरम्यान हर शनिवार को गुरु शिमरन खाम्बा, रजनीश कपूर और संजय राजोरा जैसे हास्य कलाकार जीवन, राजनीति, निजी सम्बन्धों और शादी जैसे थीम पर अपने अनोखे विचार रख कर आपको हंसने के लिए मजबूर कर देंगे। गुडगांव के कोस्टा कॉफी आउटलेट में हो रहे उत्सव में शामिल 25 वर्षीय खाम्बा कहते हैं, ‘मैं फ्रीलांस जर्नलिस्ट था लेकिन अनायास ही कॉमेडियन बन गया। इस उत्सव में मैं सामाजिक और राजनीति जैसे गम्भीर मुद्दों को हंसी में कह जाता हूं। दिल्ली के दर्शकों को समसामयिक विषयों का पता रहता है इसलिए मुझे यहां परफॉर्म करने में मजा आता है।

‘स्टेट’ ऑफ ह्यूमर
इस हास्य उत्सव में दिल्ली के हास्य कलाकार रजनीश कपूर और मुम्बई के तन्मय भट्ट की जुगलबंदी दोनों महानगरों की जीवनशैली के अंतर को अपने हास्य अभिनय से सबके सामने लाएंगी। भट्ट कहते हैं ‘दिल्ली के दर्शक हमेशा उत्साहित और अपने विचारों को हमेशा खोल के रखने वाले होते हैं, वे अपने मत आप पर थोपने में बाज भी नहीं आयेंगे। उन्हें मुम्बई के लोगों के अपेक्षा जानकारी अधिक होती है।’ वह कहते हैं कि दिल्ली वाले अपनी भावनाओं को लेकर ज्यादा एक्सप्रेसिव और भावुक होते हैं। वे बिलकुल छोटी सी बात पर झगड़ सकते हैं और अपने संबंधों की  सूची को बहुत ही गर्व से बताने में यकीन करते हैं लेकिन झगड़े के अगले ही मिनट वह बहुत ही भावुक हो जायेंगे, आपको सॉरी कहेंगे और आपसे अपने भाई की तरह व्यवहार करेंगे। लेकिन मुम्बई में लोगों को झगड़ने की फुर्सत भी नहीं है अगर वो ट्रेन  में ना हों।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आये संजय राजोरा शहर और गांव के बीच के अंतर को दिखा कर अपने दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करने की योजना बना रहे हैं।

लेडी कॉमेडी
स्टैंडअप कॉमेडी में स्टेज पर पुरुषों की कतार के बीच अपनी जगह बनाती नीति पाल्टा कहती हैं कि मुझे उन चीजों को दिखाना अच्छा लगता है जो आम जीवन में रोज घटित होती रहती है, लेकिन आप उस पर ध्यान नहीं देते। मैं इन दरकिनार की गई घटनाओं, भावनाओं और तथ्यों को बहुत ही हल्के अंदाज में रखती हूं, इससे ना सिर्फ लोगो को आनंद आता है, बल्कि उन तथ्यों से रू-ब-रू भी होते हैं। नीति कॉफी शॉप में पहली बार परफॉर्म करने के बारे में बहुत उत्साहित हैं। वह कहती हैं कि कॉफी शॉप का माहौल बहुत ही आत्मीय होता है। मैं उम्मीद करती हूं कि जोक सुनने के बाद कोई भी मुझ पर कॉफी नहीं फेंकेगा, हां अगर ये पब होता और लोग मुझ पर एल्कोहल फेंकते तो मैं उसे टेस्ट भी कर लेती लेकिन कॉफी ना सिर्फ गर्म होती है बल्कि इसके दाग भी कपड़े से नहीं जाते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हंसने के लिए रहें तैयार