DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रूट डायवर्ट, बताएगी ट्रैफिक पुलिस की वेबसाइट

 गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता। शहर में जाम लगने वाले प्वाइंट्स, रूट डायवर्जन की डेट व टाइम, अस्पतालों की लिस्ट से लेकर चालान भुगतने तक की जानकारी के लिए आपको भटकना नहीं पड़ेगा। यह सब जानकारी आपको अपने कंप्यूटर पर एक क्लिक मात्र से मिल जाएगी। गाजियाबाद ट्रैफिक पुलिस ने गुरुवार को अपनी वेबसाइट लांच कर दी। इसमें ट्रैफिक संबंधित हर जानकारी पब्लिक के लिए राउंड दा क्लॉक उपलब्ध रहेगी।बुधवार दोपहर को एसएसपी रघुवीर लाल ने अपने कार्यालय में

 एसपी ट्रैफिक अजय सहदेव ने बताया कि ट्रैफिक संबंधी सारी जानकारी वेबासाइट पर डाल दी गई है। दो से तीन दिन के भीतर पूरी तरह से अपडेट करने का कार्य भी पूरा कर लिया जाएगा। उसके बाद इसे रोज अपडेट करने के लिए स्टॉफ रखा जाएगा। वेबसाइट खास तौर पर उन लोगों के लिए लाभदायक होगी, जिन्हें जाम प्वाइंट्स, रूट डायवर्जन की डेट और टाइम आदि जानना हो। विभिन्न अवसरों, त्यौहारों, वीआईपी मूवमेंट आदि पर रूट डयवर्ट किया जाता है। इसकी प्लानिंग एक या दो दिन पहले बनकर तैयार हो जाती है। यही पूरी प्लानिंग वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी, जिससे लोग वैकल्पिक मार्गो को चुन लें। वहीं रोजाना काटे जाने वाले चालान की पूरी जानकारी दी जाएगी, जिससे उक्त जगह जाकर वाहन चालक चालान को भुगत सके।

पब्लिक व सड़क से जुड़ी हुई प्रत्येक जानकारी समय-समय पर वेबसाइट पर अपडेट की जाएगी।

-----------------------क्या-क्या होगा वेबसाइट मेंमैन पॉवर की पूरी जानकारी, रूट डायवर्जन का डेट व टाइम, वैकल्पिक मार्ग, रोड सेफ्टी रूल्स, चालान का ब्यौरा, इमरजेंसी सर्विसेज, महत्वपूर्ण फोन नंबर, मार्गो की विस्तृत जानकारी, ट्रैफिक हेल्पलाइन 14 खतरनाक प्वाइंट्सवेबसाइट में शहर के सर्वाधिक सड़क दुर्घटना वाले 14 खतरनाक प्वाइंट के बारे में बताया गया है। ये सभी प्वाइंट अतिव्यस्त एनएच 24, 58 व जीटी रोड पर हैं। इन खतरनाक बिंदुओं में मेरठ रोड तिराहा, घूकना मोड़, एनएच 24 पर राहुल विहार कट, कालापत्थर कट, खोड़ा कट, एबीईएस क ट, डासना तिराहा शामिल हैं।

शहर के बीचोंबीच से गुजरने वाले जीटी रोड पर लालकुआं, भाटिया मोड़, नया बस अड्डा आदि स्थानों का उल्लेख है।क्रेस सर्विस प्रोवाइडरों के नंबर भी मिलेंगेवेबसाइट पर यातायात पुलिस द्वारा सात क्रेन सर्विस प्रोवाइडरों के नबंर भी दिए गए हैं, जिससे आपातकाल में कोई व्यक्ति नंबर डायल कर क्रेन की सेवा ले सकता है। यातायात पुलिस का कहना है कि इससे सड़क हादसे के बाद सडक से दुर्घटनाग्रस्त वाहनों को जल्दी से हटाकर यातायात को सुचारु किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रूट डायवर्ट, बताएगी ट्रैफिक पुलिस की वेबसाइट