DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑनलाइन कारोबार में छाने को तैयार वॉलमार्ट

मल्टी ब्रांड रिटेल को लेकर देश में उठी बहस वालमार्ट बनाम देसी किराना जैसी हो गई है। एक तबका इसी चिंता में दोहरा हुआ जा रहा है कि वालमार्ट आई तो क्या होगा। भारत में इन तर्क-वितर्क से दूर वालमार्ट की नजरें सुदूर भविष्य को देख रही हैं। उसे ऑनलाइन बाजार में संभावनाएं दिख रही हैं। उसने यह सेवा शुरू करने का ऐलान कर दिया है। कंपनी को लगता है कि इससे न केवल उसका कारोबार बढ़ेगा, बल्कि उपभोक्ताओं के लिए यह एक अतिरिक्त सुविधा भी होगी।

केंद्र सरकार ने रिटेल कारोबार में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को अनुमति दे दी है। सरकार के इस फैसले के तहत देश के रिटेल बाजार में उतरने वाली विदेशी कंपनियों में वालमार्ट प्रमुख दावेदार है। इसी कंपनी के नाम पर विपक्षी दल और खुदरा से जुड़े कारोबारी हाय-तौबा मचा रहे हैं।

वालमार्ट ने फिलहाल ऑनलाइन सेल्स से अपने कुल मुनाफे का दो फीसदी कमाने का अनुमान लगाया है। वालमार्ट ने अमेजन कंपनी की ऑनलाइन सेवा के सफल होने के बाद यह फैसला किया है। वालमार्ट लैब्स के प्रमुख विंकी हरीनारायण का कहना है कि अमेरिका समेत कई बड़े देशों में कंपनी के काफी संख्या में स्टोर हैं और सामान के ऑनलाइन ऑर्डर की डिलीवरी करने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऑनलाइन कारोबार में छाने को तैयार वॉलमार्ट