DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क दुर्घटना में बुजुर्ग को मिला मुआवजा

61 वर्षीय एक व्यक्ति के टू-व्हीलर स्कूटर को कार ने जबरदस्त टक्कर मारी। इस दुर्घटना में बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हुआ और उपचार के दौरान कोमा में चला गया। ढाई साल बीत जाने के बाद भी बुजुर्ग अभी तक कोमा में हैं। तीस हजारी स्थित एमएसीटी जज दिनेश भट्ट की अदालत ने इस मामले में बुजुर्ग के पक्ष में फैसला सुनाते हुए 58 लाख 20 हजार रुपये मुआवजा देने के आदेश दिए हैं।

अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि यह दुर्घटना मई 2009 में हुई थी। तभी से घायल प्रताप सेन कटयाल कोमा में हैं और अब उनके स्वस्थ होने की संभावना भी ना के बराबर है। लिहाजा कटयाल की पत्नी शारदा को मुआवजा रकम की अदायगी की जाए। अदालत ने दुर्घटना को अंजाम देने वाली कार के चालक अमित गुप्ता को इस दुर्घटना के लिए दोषी ठहराया और राष्ट्रीय बीमा कंपनी से 58 लाख 20 हजार 785 रुपये कटयाल को अदा करने का निर्देश दिए हैं। साथ ही इस मुआवजा रकम पर बीमा कंपनी को साढ़े सात फीसदी का ब्याज भी देना होगा।

पीड़ित की पत्नी ने अदालत को बताया कि वह अपने पति के उपचार पर 20 लाख रुपये से अधिक खर्च कर चुकी है। उन्होंने मुआवजे के तौर पर 59 लाख रुपये की मांग करते हुए कहा था कि उनके पति की मासिक आमदनी 50 हजार रुपये थी। भविष्य में उनके इलाज पर एक लाख रुपया प्रति महीना खर्च होने की संभावना है। ऐसे में कमाई का कोई और जरिया नहीं होने के कारण उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। अदालत ने बुजुर्ग की पत्नी की दलील को स्वीकार करते हुए मुआवजा आदेश दिए हैं।
पीड़ित पक्ष के अनुसार यह दुर्घटना 23 मई 2009 को उस वक्त हुई थी जब कटयाल कश्मीरी गेट स्थित अपने कार्यालय के लिए स्कूटर से जा रहे थे, तभी राजपुर रोड पर एक कार ने उनके दोपहिया वाहन को पीछे से टक्कर मार दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़क दुर्घटना में बुजुर्ग को मिला मुआवजा