DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकायुक्त सिफारिश पर पांचवें मंत्री का इस्तीफा

 ये भी गंवा चुके हैं मंत्री पद
1.राजेश त्रिपाठी -धमार्थ कार्य मंत्री
2.अवधपाल सिंह -यादव दुग्ध विकास मंत्री
3.रंगनाथ मिश्र  -माध्यमिक शिक्षा मंत्री
4.बादशाह सिंह  -श्रम मंत्री
----
कार्रवाई
-इससे पहले भी चार और मंत्री गंवा चुके हैं अपना मंत्री पद
-अहिरवार पर अवैध भूमि कब्जा व पद के दुरुपयोग के आरोप


भ्रष्टाचार,जमीन पर अवैध कब्जे और धमकाने के आरोपों के चलते उत्तर प्रदेश सरकार के एक और मंत्री ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया। जांच में आरोप सही पाए जाने के बाद लोकायुक्त जस्टिस एऩके. मेहरोत्र ने अंबेडकर ग्रामसभा विकास मंत्री रतन लाल अहिरवार को पद से हटाने की सिफारिश की थी। लोकायुक्त जांच में दोषी पाए जाने पर यूपी के चार और मंत्री अपने पद से हाथ धो चुके हैं।


सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री मायावती ने अहिरवार के इस्तीफे को राज्यपाल बी.एल. जोशी के पास भेज दिया, जिसे उन्होंने मंजूर कर लिया है। पंचायतीराज मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य अब अंबेडकर ग्रामसभा विकास विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे।

 उल्लेखनीय है कि ग्राम सभा की जमीन पर अवैध कब्जे,पद व विधायक क्षेत्र विकास निधि के दुरुपयोग की शिकायत के बाद लोकायुक्त जस्टिस मेहरोत्र ने 28 नवंबर को मुख्यमंत्री से अहिरवार को मंत्री पद से हटाने की सिफारिश की थी।

लोकायुक्त ने इस सिलसिले में झांसी मंडल के तत्कालीन आयुक्त सहित कई अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की थी। झांसी के रहने वाले कमलापत राय ने अहिरवार के खिलाफ लोकायुक्त के समक्ष ये शिकायतें दर्ज कराई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकायुक्त सिफारिश पर पांचवें मंत्री का इस्तीफा