DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के विरोध में बंद, विरोध प्रदर्शन

खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति देने के केन्द्र सरकार के फैसले के खिलाफ गुरुवार को विभिन्न व्यापारिक संगठनों और विपक्षी दलों के आह्वान पर आयोजित भारत बंद के साथ समूचे झारखंड में दुकानें एवं अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रखे गये हैं।

झारखंड की राजधानी रांची में आज सुबह से ही विभिन्न क्षेत्रों में वाहनों का आवागमन बहुत सीमित है। दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद हैं। आज सुबह से ही शहर के मुख्य मार्ग, सर्कुलर रोड, हीनू, कांके रोड, कोकर क्षेत्र, हटिया, हरमू, रातू रोड, कडरू आदि इलाकों में कोई भी दुकान एवं अन्य प्रतिष्ठान नहीं खुले।

स्कूल, कालेजों को इस बंद से अलग रखा गया है, लिहाजा सिर्फ विद्यालयों के वाहन सड़कों पर नजर आ रहे हैं। स्कूल और कालेज खुले हुए हैं।

फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर्स ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष सज्जन सर्राफ ने कहा कि फेडरेशन भारत में इस तरह की निवेश की छूट का घोर विरोध करता है और इसीलिए समूचे झारखंड में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को आज बंद रखा गया है।

उन्होंने मांग की कि केन्द्र सरकार तत्काल खुदरा व्यापार में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के अपने फैसले को वापस ले।

इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिनेशानंद गोस्वामी ने भी बंद का समर्थन करने की घोषणा करते हुए केन्द्र सरकार के इस निर्णय की कड़ी आलोचना की। गोस्वामी ने कहा कि सरकार के इस अदूरदर्शी निर्णय से भारत में खुदरा व्यापार में लगे चार करोड़ से अधिक लोग बेरोजगार हो जायेंगे और उनसे जुड़े करोड़ों अन्य लोग सड़कों पर आ जायेंगे।

इस बीच सत्ताधारी गठबंधन की झारखंड मुक्ति मोर्चा और आज्सू ने भी बंद का समर्थन करने की घोषणा की है।

विपक्षी झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने बंद का समर्थन करते हुए कहा कि यह निर्णय अंग्रेजों के युग की याद दिलाता है। मरांडी ने केन्द्र सरकार से इस फैसले को तत्काल वापस लेने की मांग की।
रांची में सब्जी विक्रेता संघ, पुस्तक संघ और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने भी आज के बंद का समर्थन किया है।

भारत बंद के साथ झारखंड के आज के बंद का जबर्दस्त प्रभाव राज्य के प्रमुख शहरों जमशेदपुर, कोकारो, गिरिडीह, हजारीबाग, दुमका और देवघर में भी देखा जा रहा है जहां एक भी दुकान अब तक नहीं खुली है।

भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ ने कल शहद चौक पर विरोध जुलूस निकाला था और आज सुबह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पुतले के साथ फिर से विरोध जुलूस निकाला। उन्होंने खुदरा में एफडीआई वापस जाओ और मनमोहन सिंह होश में आओ के नारे लगाये।

विभिन्न व्यापारिक संगठनों की ओर से भी रांची के विभिन्न इलाकों में तथा जमशेदपुर, हजारीबाग, बोकारो, देवघर, पलामू, दुमका, गिरिडीह, गुमला आदि जिलों में विरोध मार्च का आयोजन किया गया है। इस मुद्दे पर पूरे राज्य में व्यापारिक संगठन और विपक्षी राजनीतिक दल पूरी तरह लामबंद नजर आ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के विरोध में बंद